विश्व दूरदर्शन (टेलीविजन) दिवस (21 नवम्बर)

विश्व दूरदर्शन (टेलीविजन) दिवस (21 नवम्बर): (21 November: World Television Day in Hindi)

विश्व दूरदर्शन दिवस कब मनाया जाता है?

प्रत्येक वर्ष 21 नवम्बर को विश्व के विभिन्न देशों में ‘विश्व दूरदर्शन दिवस’ अथवा अंतर्राष्ट्रीय टेलीविजन दिवस मनाया जाता है। दूरदर्शन विभिन्न प्रमुख आर्थिक और सामाजिक मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करते हुए पूरे विश्व के ज्ञान में वृद्धि करने में मदद करता है। वर्तमान में यह मीडिया की सबसे प्रमुख ताकत के रूप में उभरा है। यूनेस्को ने टेलीविज़न को संचार और सूचना के एक महत्वपूर्ण साधन के रूप में पहचाना है।

विश्व दूरदर्शन दिवस का इतिहास:

संयुक्त राष्ट्र महासभा नें 17 दिसंबर 1996 को 21 नवम्बर की तिथि को विश्व टेलीविजन दिवस के रूप घोषित किया था। संयुक्त राष्ट्र नें वर्ष 1996 में 21और 22 नवम्बर को विश्व के प्रथम विश्व टेलीविजन फोरम का आयोजन किया था। इस दिन पूरे विश्व के मीडिया हस्तियों नें संयुक्त राष्ट्र के संरक्षण में मुलाकात की। इस मुलाक़ात के दौरान टेलीविजन के विश्व पर पड़ने वाले प्रभाव के सन्दर्भ में काफी चर्चा की गयी थी। साथ ही उन्होंने इस तथ्य पर भी चर्चा की कि विश्व को परिवर्तित करने में इसका क्या योगदान है। उन्होनें आपसी सहयोग से इसके महत्व के बारे में चर्चा की। यही कारण था की संयुक्त राष्ट्र महासभा नें 21 नवंबर की तिथि को विश्व टेलीविजन दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की।

दूरदर्शन का इतिहास:

दूरदर्शन का पहला प्रसारण 15 सितंबर, 1959 को प्रयोगात्‍मक आधार पर आधे घण्‍टे के लिए शैक्षिक और विकास कार्यक्रमों के रूप में शुरू किया गया। उस समय दूरदर्शन का प्रसारण सप्ताह में सिर्फ तीन दिन आधा-आधा घंटे होता था। तब इसको ‘टेलीविजन इंडिया’ नाम दिया गया था बाद में 1975 में इसका हिन्दी नामकरण ‘दूरदर्शन’ नाम से किया गया। यह दूरदर्शन नाम इतना लोकप्रिय हुआ कि टीवी का हिंदी पर्याय बन गया।

दूरदर्शन का अंतर्राष्ट्रीय प्रसारण:

डीडी इंडिया उपग्रह चैनल का प्रसारण 146 देशों में किया गया है। यूके में, यह स्काई सिस्टम के चैनल 833 पर यूरोबर्ड उपग्रह के माध्यम से उपलब्ध था, इसका लोगो Rayat TV था। स्काई डिजिटल के माध्यम से ट्रांसमिशन जून 2008 में समाप्त हो गया, परंतु जुलाई 2008 में संयुक्त राज्य में DirecTV के माध्यम से इसे पुनः शुरू किया गया।

दूरदर्शन की वर्तमान स्थिति:

प्रसार भारती दूरदर्शन का मूल निकाय है, और इसके बोर्ड के सदस्यों को भारत सरकार द्वारा सूचना और प्रसारण मंत्रालय के माध्यम से नियुक्त किया जाता है। सरकार के प्रचार प्रसार के लिए, विशेष रूप से आपातकाल के दौरान, दूरदर्शन का उपयोग किया गया है। 1984 में ऑपरेशन ब्लू स्टार के दौरान, कहानी को रिपोर्ट करने के लिए केवल सरकारी स्रोतों का उपयोग किया गया था।

2004 में इसने आपातकाल के दौरान विपक्षी नेता जयप्रकाश नारायण पर एक विवादित वृत्तचित्र को सेंसर किया। जब दूरदर्शन ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के नेता मोहन भागवत के 70 मिनट के विजयादशमी भाषण का प्रसारण किया, तो नरेंद्र मोदी प्रशासन और भाजपा की आलोचना की गई कि वह सार्वजनिक आपदा का “दुरुपयोग” कर रहे हैं। डीडी के महानिदेशक अर्चना दत्ता के अनुसार, “भाषण किसी अन्य समाचार कार्यक्रम की तरह था, इसलिए हमने इसे कवर किया।”

चूंकि 1991 में निजी टेलीविजन चैनलों को अधिकृत किया गया था, दूरदर्शन ने दर्शकों की संख्या में भारी गिरावट का अनुभव किया है। यद्यपि यह महत्वपूर्ण विज्ञापन राजस्व कमाता है – अपनी अनिवार्य फीड के कारण – राष्ट्रीय घटनाओं (क्रिकेट मैचों सहित) के लिए उच्चतम बोली लगाने वाले से, भारत में एक टेलीविजन के लिए लाइसेंस शुल्क लगाकर इसे निधि देने का प्रस्ताव किया गया है।

दूरदर्शन का महत्त्व:

टेलीविज़न के आविष्कार ने सूचना के क्षेत्र में एक क्रांति का आगाज़ किया था। दूसरी क्रांति का आगमन उस समय हुआ, जब वैश्विक स्तर पर टेलीविज़न के महत्व के बारे में लोगों को पता चला और लोगों ने इसे स्वीकार कर लिया। चूँकि मिडिया ने वर्तमान में हमारे जीवन में इतना अधिक हस्तक्षेप कर दिया है कि हमें इसके महत्व के बारे में काफ़ी जानकारी नहीं मिल पाती। वर्तमान में हम इसके महत्व को नकार नहीं सकते। हमें इसके महत्व को समझते हुए इसका व्यापक इश्तेमाल करना चाहिए ताकि मीडिया के सूचना से सम्बंधित दुरुपयोग को रोका जा सके। साथ ही इसके प्रभाव को कम किया जा सके।

दैनिक जीवन पर प्रभाव:

वर्तमान समाज में सूचना प्रौद्योगिकी और संचार के इस्तेमाल ने हमारी निर्भरता को मनोरंजन, शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल, व्यक्तिगत संबंधों, यात्रा आदि के सन्दर्भ में इस पर निर्भर बना दिया है, जिसकी वजह से आज हम इसके गुलाम जैसे हो गए हैं। हम पूरी तरह से कह सकते हैं कि वर्तमान में सूचना तकनीकी ने पूरे विश्व को अपने हाथों में नियंत्रित कर लिया है।

दूरदर्शन के बारे में महत्वपूर्ण सामान्य ज्ञान तथ्य:

  • दूरदर्शन की देश में महानगरों में शुरुआत: दिल्‍ली (09 अगस्‍त 1984), मुम्‍बई (01 मई 1985), चेन्‍नई (19 नवम्‍बर 1987), कोलकाता (01 जुलाई 1988)
  • 26 जनवरी 1993: मेट्रो चैनल शुरू करने के लिए एक दूसरे चैनल की नेटवर्किंग हुई।
  • 14 मार्च 1995: अंतर्राष्‍ट्रीय चैनल डीडी इंडिया की शुरूआत हुई।
  • 23 नवम्‍बर 1997: प्रसार भारती का गठन (भारतीय प्रसारण निगम) हुआ।
  • 18 मार्च 1999: खेल चैनल डीडी स्‍पोर्ट्स की शुरूआत हुई।
  • 26 जनवरी 2002: संवर्धन/सांस्‍कृतिक चैनल की शुरूआत हुई।
  • 03 नवम्‍बर 2002: 24 घण्‍टे के समाचार चैनल डीडी न्‍यूज की शुरूआत हुई।
  • 16 दिसम्‍बर 2004: निशुल्‍क डीटीएच सेवा डीडी डाइरेक्‍ट की शुरूआत हुई।

नवम्बर माह के महत्वपूर्ण दिवस की सूची - (राष्ट्रीय दिवस एवं अंतराष्ट्रीय दिवस):

तिथि दिवस का नाम - उत्सव का स्तर
10 नवम्बरशांति एवं विकास हेतु विश्‍व विज्ञान दिवस (यूनेस्‍को) - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
11 नवम्बरराष्‍ट्रीय शिक्षा दिवस - राष्ट्रीय दिवस
12 नवम्बरराष्ट्रीय पक्षी दिवस - राष्ट्रीय दिवस
14 नवम्बरबाल दिवस (जवाहर लाल नेहरू की जयंती) - राष्ट्रीय दिवस
14 नवम्बरविश्व मधुमेह (डायबिटीज) दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
16 नवम्बरअंतर्राष्‍ट्रीय सहिष्णुता दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
17 नवम्बरराष्ट्रीय पत्रकारिता दिवस - राष्ट्रीय दिवस
17 नवम्बरराष्ट्रीय मिरगी दिवस - राष्ट्रीय दिवस
20 नवम्बरसार्वभौमिक बाल दिवस (यूनिसेफ) - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
21 नवम्बरविश्व दूरदर्शन (टेलीविजन) दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
21 नवम्बरझलकारी जयंती - राष्ट्रीय दिवस
25 नवम्बरमहिलाओं के विरुद्ध हिंसा उन्‍मूलन अंतर्राष्‍ट्रीय दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
26 नवम्बरविश्व पर्यावरण संरक्षण दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
26 नवम्बरनेशनल लॉ दिवस - राष्ट्रीय दिवस
26 नवम्बरराष्ट्रीय दुग्ध दिवस - राष्ट्रीय दिवस

This post was last modified on November 21, 2019 9:28 am

You just read: World Television Day In Hindi - IMPORTANT DAYS OF NOVEMBER MONTH Topic

Recent Posts

विश्व मूक बधिर दिवस (26 सितम्बर)

विश्व मूक बधिर दिवस (26 सितम्बर): (26 September: World Deaf-Dumb Day in Hindi) विश्व मूक बधिर दिवस कब मनाया जाता है? हर…

September 26, 2020

26 सितम्बर का इतिहास भारत और विश्व में – 26 September in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 26 सितम्बर यानि आज के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में।…

September 26, 2020

सितंबर 2020 समसामयिकी घटना चक्र – Current Affairs September 2020

सितंबर 2020 समसामयिकी घटना चक्र हिंदी में: (September 2020 Current Affairs in Hindi) इस अध्याय में आगामी प्रतियोगी परीक्षाओं के…

September 25, 2020

भारत की पहली महिला डॉक्टर: रखमाबाई राऊत का जीवन परिचय

रखमाबाई राऊत का जीवन परिचय: (Biography of Rukhmabai Raut in Hindi) रखमाबाई राऊत भारत की प्रथम महिला चिकित्सक थीं। रखमाबाई का जन्म…

September 25, 2020

25 सितम्बर का इतिहास भारत और विश्व में – 25 September in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 25 सितम्बर यानि आज के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में।…

September 25, 2020

भारत के संविधान में अब तक किए गए प्रमुख संविधान संशोधनों की सूची

भारतीय संविधान के संशोधन:  (Amendment of Indian Constitution in Hindi) भारतीय संविधान में अब तक कुल 126 संविधान संशोधन विधेयकों…

September 24, 2020

This website uses cookies.