भारत के प्रमुख फलों के नाम एवं उसके खाने योग्य भाग: 

फल किसे कहते है?

निषेचित, परिवर्तित एवं परिपक्व अंडाशय को फल कहते हैं। साधारणतः फल का निर्माण फूल के द्वारा होता है। फूल का स्त्री जननकोष अंडाशय निषेचन की प्रक्रिया द्वारा रूपान्तरित होकर फल का निर्माण करता है। कई पादप प्रजातियों में, फल के अंतर्गत पक्व अंडाशय के अतिरिक्त आसपास के ऊतक भी आते है। फल वह माध्यम है जिसके द्वारा पुष्पीय पादप (Flowering plant) अपने बीजों का प्रसार करते हैं, हालांकि सभी बीज फलों से नहीं आते।

फल कितने प्रकार के होते है?

फलों के प्रकार: फल के तीन बुनियादी प्रकार हैं: साधारण फल (Simple fruits), गुच्छेदार फल (Aggregate fruits) और बहुखण्डित फल (Multiple fruits)।

  1. साधारण फल (Simple fruits): एक साधारण या मिश्रित अंडाशय जिसमे सिर्फ एक पुंकेसर (Stamen) हो के पकने पर एक साधारण फल प्राप्त होता है जो सूखा या गूदेदार हो सकता है। सूखे मेवे पकने पर या स्फोटक (फट कर बीज निकालना) या अस्फोटक (न फटना जिससे बीज अन्दर ही रहते हैं) हो सकते हैं। सूखे और सामान्य फल के उदाहरण हैं: वह फल जिनमें फल भित्ति का कुछ भाग या पूरी भित्ति ही पक्वन पर मांसल (गूदेदार) हो जाती है, सामान्य गूदेदार फल (Normal Pulpy fruit) कहलाते हैं।
  2. गुच्छेदार फल (Aggregate fruits): यह फल एक ही पुष्प जिसमे कई साधारण पुंकेसर (Stamen) हो, से विकसित होते हैं। इनका उदाहरण है रसभरी।
  3. बहुखण्डित फल (Multiple fruits): एक बहुखण्डित फल, फूलों के एक समूह (एक पुष्पक्रम) से गठित होता है। हर फूल एक फल का निर्माण करता है लेकिन यह सब एक एकल पिंड के रूप मे परिपक्व होते हैं। इनके उदाहरण हैं, अनानास (Pineapple), खाद्य अंजीर (Fig), शहतूत (Morus alba), संतरा (Orange) और रोटीफल (Breadfruit)।

भारत के प्रमुख फलों के नाम एवं उसके खाने योग्य भागो की सूची: 

फलों के नाम हिन्दी में Furits name in English खाने योग्य भाग कानाम
लीची Lychee एरिल
सेब, नाशपाती apple, pear पुष्पासन
आम, पपीता mango, papaya मध्य फलभित्ती
गेहूँ wheat भ्रूणपोष एवं भ्रूण
नारियल Coconut भ्रूणपोष
मूँगफली, चना Peanuts, Chickpeas बीजपत्र एवं भ्रूण
आलू Potato तना
गाजर, शलजम, चुकन्दर एवं मूली Carrots, turnips, beets and radishes जड़
काजू Cashew बीजपत्र
नारंगी Orange जूसी हेयर
अनानास Pineapple परिदल पुंज
अमरुद, टमाटर, अंगूर Guava, Tomato, Grapes फलभित्ति एवं बीजाण्डासन
केला banana मध्य एवं अंतःभित्ती

अब संबंधित प्रश्नों का अभ्यास करें और देखें कि आपने क्या सीखा?

फलों के नाम से संबंधित प्रश्न उत्तर 🔗

यह भी पढ़ें:

फलों के भाग प्रश्नोत्तर (FAQs):

कच्चे फलों को कृत्रिम रूप से पकाने के लिए एथिलीन गैस का उपयोग किया जाता है। एथिलीन एक प्राकृतिक गैस है जो फलों के पकने की प्रक्रिया को तेज करती है। इसके प्रयोग से फल अधिक एथिलीन गैस के संपर्क में आते हैं, जिससे उनके पकने की प्रक्रिया तेज हो जाती है। इस प्रक्रिया को "फल पकाना" कहा जाता है।

साइकस एक अनावृतबीजी पौधा है। यह 'साइकाडोफाइटा' नामक पौधों के एक प्राचीन वर्ग का सदस्य है, जो ताड़, फर्न या अन्य आधुनिक पौधों से निकटता से संबंधित नहीं है। साइकस पौधे की विशेषता मुख्य रूप से लंबी और रोएँदार पत्तियां होती हैं जो पलकों की तरह दिखती हैं।

फलियों के रूप में वर्गीकृत, मूंगफली जमीन के अंदर उगती है - एकमात्र ऐसा फल जो जमीन के अंदर उगता है। अखरोट, या फल, मूंगफली के पौधे का बीज है। मूंगफली को गर्म मौसम की आवश्यकता होती है और यह गर्मियों के दौरान पकती है।

फलों के मीठे स्वाद का मुख्य कारण उनमें प्राकृतिक शर्करा की उपस्थिति है। फलों में मुख्य रूप से फ्रुक्टोज नामक शर्करा होती है, जो उन्हें मीठा बनाती है। फ्रुक्टोज एक प्राकृतिक कार्बोहाइड्रेट है जो फलों में मध्यम मात्रा में पाया जाता है।

केले का 'शो फ्रूट' या डिस्प्ले फल उसके बीच में लटकती हुई पुराने छिलके की परत होती है, जो फल को आकर्षक बनाती है। असल में यह छिलका खाया नहीं जाता और इसे निकालने के बाद 'असली फल' सामने आता है। 'असली फल' स्वाद में मीठा और पीले रंग का होता है और विभिन्न पोषक तत्वों से भरपूर होता है।

  Last update :  Tue 13 Sep 2022
  Download :  PDF
  Post Views :  16058
  Post Category :  शब्दार्थ