अभियन्ता दिवस अथवा इंजीनियर्स डे (15 सितम्बर)

अभियन्ता दिवस अथवा इंजीनियर्स डे कब मनाया जाता है? (Engineers Day in Hindi)

भारत में प्रत्येक वर्ष 15 सितम्बर को ‘अभियन्ता दिवस’ अथवा ‘इंजीनियर्स डे’ के रुप में मनाया जाता है। इसी दिन भारत के महान् अभियंता (इंजिनीयर) और ‘भारत रत्न‘ प्राप्त मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया का जन्म दिवस होता है। आज भी मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया को आधुनिक भारत के विश्वकर्मा के रूप में बड़े सम्मान के साथ स्मरण किया जाता है।

अभियन्ता दिवस का इतिहास:

एम् विश्वेश्वरैया भारत के महान इंजिनियरों में से एक थे, इन्होंने ही आधुनिक भारत की रचना की और भारत को नया रूप दिया. उनकी दृष्टि और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में समर्पण भारत के लिए कुछ असाधारण योगदान दिया।  भारत सरकार द्वारा 1968 ई. में डॉ. मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया की जन्म तिथि को ‘अभियंता दिवस’ घोषित किया गया था।

अभियंता (इंजिनीयर) किसे कहते है?

इंजिनीयर को हिंदी में इंजिनीयर अभियंता कहा जाता है। अभियंता (इंजीनियर) वह व्यक्ति है जिसे अभियाँत्रिकी की एक या एक से अधिक शाखाओं में प्रशिक्षण प्राप्त हो अथवा जो कि व्यावसायिक रूप से अभियाँत्रिकी सम्बन्धित कार्य कर रहा हो। कभी कभी इन्हे यंत्रवेत्ता भी कहा जाता है।

भारत की आज़ादी के बाद नये भारत के निर्माण और विकास में प्रतिभावान इंजीनियरों ने भी महत्वपूर्ण योगदान दिया है। गांव एवं शहरों के समग्र विकास के लिए सड़कों, पुल-पुलियों और सिंचाई जलाशयों सहित अधोसंरचना निर्माण के अनेक कार्य हो रहे हैं। हमारे इंजीनियरों ने अपनी कुशलता से इन सभी निर्माण कार्यो को गति प्रदान की है।

अभियान्त्रिकी (इंजीनियरिंग) क्या है?

अभियान्त्रिकी (Engineering) वह विज्ञान तथा व्यवसाय है जो मानव की विविध जरूरतों की पूर्ति करने में आने वाली समस्याओं का व्यावहारिक समाधान प्रस्तुत करता है। इसके लिये वह गणितीय, भौतिक व प्राकृतिक विज्ञानों के ज्ञानराशि का उपयोग करती है।

इंजीनियरी भौतिक वस्तुओं और सेवाओं का उत्पादन करती है, औद्योगिक प्रक्रमों का विकास एवं नियंत्रण करती है। इसके लिये वह तकनीकी मानकों का प्रयोग करते हुए विधियाँ, डिजाइन और विनिर्देश प्रदान करती है।

मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया के जीवन का संक्षिप्त परिचय

विश्वेश्वरैया का जन्म मैसूर, जो कि अब कर्नाटक में है, के ‘मुद्देनाहल्ली’ नामक स्थान पर 15 सितम्बर, 1861 को हुआ था। बहुत ही ग़रीब परिवार में जन्मे विश्वेश्वरैया का बाल्यकाल बहुत ही आर्थिक संकट में व्यतीत हुआ था। उनके पिता वैद्य थे। वर्षों पहले उनके पूर्वज आंध्र प्रदेश के ‘मोक्षगुंडम’ नामक स्थान से मैसूर में आकर बस गये थे। मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया ने प्रारंभिक शिक्षा जन्म स्थान से ही पूरी की। आगे की पढ़ाई के लिए उन्होंने बंगलूर के ‘सेंट्रल कॉलेज’ में दाखिला लिया। लेकिन यहाँ उनके पास धन का अभाव था। अत: उन्हें ट्यूशन करना पड़ा। विश्वेश्वरैया ने 1881 में बी.ए. की परीक्षा में अव्वल स्थान प्राप्त किया। इसके बाद मैसूर सरकार की मदद से इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए पूना के ‘साइंस कॉलेज’ में दाखिला लिया। 1883 की एल.सी.ई. व एफ.सी.ई. (वर्तमान समय की बीई उपाधि) की परीक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त करके अपनी योग्यता का परिचय दिया। इसी उपलब्धि के चलते महाराष्ट्र की सरकार ने इन्हें नासिक में सहायक इंजीनियर के पद पर नियुक्त किया था।

102 वर्ष की आयु में भी वह काम करते रहे। उन्होंने कहा, “जंग लग जाने से बेहतर है, काम करते रहना।” जब तक वह कार्य कर सकते थे, करते रहे। 14 अप्रैल सन् 1962 को उनका स्वर्गवास हो गया।

इंजीनियरिंग से सम्बंधित विषयों की सूची:

आजकल इंजीनियरिंग के क्षेत्र में बहुत से विद्यार्थी अपना करियर बनाना चाहते हैं। इंजीनियरिंग से सम्बंधित अनेक विषय होते हैं जिनमे इंजीनियरिंग से सम्बंधित समस्या के समाधान के बारे में बताया जाता है। जिससे छात्रों को किसी प्रकार की परेशानी ना हो। इंजीनियरिंग से सम्बंधित महत्वपूर्ण विषय निम्नलिखित है:

  • बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (बीटेक) (सिविल इंजीनियरिंग)।
  • बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (बीटेक) (एग्रीकल्चरल इंजीनियरिंग)।
  • बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (बीटेक) (ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग)।
  • बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (बीटेक) (बिओमेडिकल इंजीनियरिंग)।
  • बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (बीटेक) (बायोटेक्नोलॉजी)।
  • बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (बीटेक) (कंप्यूटर इंजीनियरिंग)।
  • बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (बीटेक) (कंप्यूटर साइंस)।
  • बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (बीटेक) (इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स)।
  • बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (बीटेक) (इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग)।
  • बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (बीटेक) (इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन)।
  • मास्टर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (ऍम टेक) (सिविल इंजीनियरिंग)।
  • मास्टर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (ऍम टेक) (एयरोस्पेस इंजीनियरिंग)।
  • मास्टर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (ऍम टेक) (एग्रीकल्चरल इंजीनियरिंग)।
  • मास्टर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (ऍम टेक) (इंजीनियरिंग इंजीनियरिंग)।
  • मास्टर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (ऍम टेक) (बायोटेक्नोलॉजी)।
  • मास्टर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (ऍम टेक) (केमिकल इंजीनियरिंग)।
  • मास्टर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (ऍम टेक) (इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग)।
  • मास्टर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (ऍम टेक) (इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलेकम्युनिकेशन्स इंजीनियरिंग)।
  • मास्टर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (ऍम टेक) (इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंस्ट्रूमेंटेशन इंजीनियरिंग)।
  • मास्टर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (ऍम टेक) (इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग)।
  • मास्टर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (ऍम टेक) (एनर्जी इंजीनियरिंग)।

भारत में इंजीनियरिंग के 10 शीर्ष कॉलेज:

भारत में इंजीनियरिंग करने के लिए आजकल काफी विश्व विद्यालय खुल गए हैं, जहा पर इंजीनियरिंग से सम्बंधित हर विषय को अच्छी तरह से पढ़ाया जाता है जिससे छात्रों को रोजगार के काफी अव्छे अवसर प्राप्त हो सकते है। भारत में इंजीनियरिंग के शीर्ष 10 कॉलेजो के नाम और उनके स्थान नीचे दिए गये है:-

  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी: (IIT), खड़गपुर
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी: (IIT), न्यू दिल्ली
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी मद्रास: (IITM), चेन्नई
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी: (IIT), कानपूर
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस: (IISC), बैंगलोर
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी: (IIT), रूरकी
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी: (IIT), मुम्बई
  • लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी: (LPU), जालंधर
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी: (BHU IIT), वाराणसी
  • अलायन्स यूनिवर्सिटी: (AU), बैंगलोर

यह भी पढ़ें: विज्ञान की प्रमुख शाखाएँ और अध्यनन विषयों की सूची

सितम्बर माह के महत्वपूर्ण दिवस की सूची - (राष्ट्रीय दिवस एवं अंतराष्ट्रीय दिवस):

तिथि दिवस का नाम - उत्सव का स्तर
02 सितम्बरविश्व नारियल दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
05 सितम्बरशिक्षक दिवस (डॉक्टर राधाकृष्ण जन्म दिवस) - राष्ट्रीय दिवस
08 सितम्बरविश्व साक्षरता दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
14 सितम्बरविश्व बन्धुत्व और क्षमायाचना दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
14 सितम्बरहिन्दी दिवस: भारत - राष्ट्रीय दिवस
15 सितम्बरअभियंता (इंजीनियर्स) दिवस - राष्ट्रीय दिवस
16 सितम्बरविश्व ओज़ोन परत संरक्षण दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
17 सितम्बरविश्वकर्मा जयंती - राष्ट्रीय दिवस
21 सितम्बरअन्तरराष्ट्रीय शांति दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
26 सितम्बरविश्व मूक बधिर दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
27 सितम्बरविश्व पर्यटन दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
29 सितम्बरविश्व हृदय दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस

This post was last modified on September 15, 2020 9:39 am

You just read: Engineers Day In Hindi - INTER NATIONAL DAYS Topic

Recent Posts

विश्व बचत (मितव्ययता) दिवस (30 अक्टूबर)

विश्व बचत दिवस (30 अक्टूबर):  (31 October: World Saving Day in Hindi) विश्व बचत दिवस कब मनाया जाता है? प्रत्येक वर्ष…

October 30, 2020

30 अक्टूबर का इतिहास भारत और विश्व में – 30 October in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 30 अक्टूबर यानि आज के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में।…

October 30, 2020

महर्षि वाल्मीकि का इतिहास (वाल्‍मीकि जयंती 2020)

महर्षि वाल्मीकि कौन थे? महर्षि वाल्मीकि को संस्कृत साहित्य में अग्रदूत कवि के रूप में जाना जाता है। महर्षि वाल्मीकि…

October 29, 2020

29 अक्टूबर का इतिहास भारत और विश्व में – 29 October in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 29 अक्टूबर यानि आज के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में।…

October 29, 2020

भारत के राज्य और उनकी जीडीपी वर्ष 2020

भारत के राज्य और उनकी जीडीपी वर्ष 2020 (States of India and their GDP year 2020) : जैसा की पूरी…

October 28, 2020

विश्व के प्रमुख देशों के नाम और उनके स्‍वतंत्रता दिवस की तिथियाँ

विश्व का कौन-सा देश कब आजाद हुआ से सम्बंधित महत्वपूर्ण सामान्य ज्ञान (List Independence Day of World's famous Countries in Hindi)…

October 28, 2020

This website uses cookies.