भारतीय नौसेना दिवस (04 दिसम्बर)

Inter National Days: Indian Navy Day In Hindi

नौसेना दिवस: भारत (04 दिसम्बर): (04 December: Indian Navy Day in Hindi)

भारतीय नौसेना दिवस कब मनाया जाता है?

देश भर में प्रत्येक वर्ष 04 दिसम्बर को भारतीय नौसेना दिवस मनाया जाता है। यह 1971 की जंग में भारतीय नौसेना की पाकिस्तानी नौसेना पर जीत की याद में मनाया जाता है।

‘ऑपरेशन ट्राइडेंट’:

नौसेना प्रमुख एडमिरल एसएम नंदा के नेतृत्व में ऑपरेशन ट्राइडेंट का प्लान बनाया गया था। इस टास्क की जिम्मेदारी 25वीं स्क्वॉर्डन कमांडर बबरू भान यादव को दी गई थी। 04 दिसंबर, 1971 को नौसेना ने कराची स्थित पाकिस्तान नौसेना हेडक्वार्टर पर पहला हमला किया था। एम्‍यूनिशन सप्‍लाई शिप समेत कई जहाज नेस्‍तनाबूद कर दिए गए थे। इस दौरान पाक के ऑयल टैंकर भी तबाह हो गए। कराची तेल डिपो में लगी आग की लपटों को 60 किलोमीटर की दूरी से भी देखा जा सकता था। कराची के तेल डिपो में लगी आग को सात दिनों और सात रातों तक नहीं बुझाया जा सका था।

भारतीय नौसेना का इतिहास:

नौसेना भारतीय सेना का सामुद्रिक अंग है जिसकी कमान गृह मंत्रालय के अधिन है। भारतीय नौसेना के वर्तमान अध्यक्ष एडमिरल सुनील लांबा है। नौसेना का मुख्यालय राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में है।

सन् 1613 में ईस्ट इंडिया कंपनी की युद्धकारिणी सेना के रूप में इंडियन मेरीन का गठन हुआ, जिसे 1685 में “बंबई मेरीन” का नाम दिया गया, लेकिन यह 1830 तक ही रहा। 08 सितंबर 1934 में भारतीय विधानपरिषद् ने भारतीय नौसेना अनुशासन अधिनियम पारित किया और फिर इसे रॉयल इंडियन नेवी का नाम दिया गया।

द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान नौसेना का विस्तार हुआ और अधिकारी तथा सैनिकों की संख्या लगभग 30,000 के आस-पास पहुंच गई। मौजूदा समय में भारतीय नौसेना विश्व की पाँचवी सबसे बड़ी नौसेना है, जिसमें सैनिकों की संख्या 79,000 है।

नौसेना दिवस समारोह:

नौसेना दिवस समारोह का आयोजन पूर्वी नौसेना कमांड द्वारा विशाखापट्नम में किया जाता है। नौसेना दिवस के दिन शहीद नौसैनिकों के याद में पुष्पचक्र अर्पित करने के बाद पनडुब्बी जहाज, पोत, का शानदार प्रदर्शन किया जाता है, जिसमें भारी संख्या में स्थानीय लोग भी शामिल होते है।

भारतीय नौसेना के बेड़े में शामिल पोत

  • विमान वाहक: विक्रमादित्य, विराट।
  • विध्वंसक/विनाशक: दिल्ली श्रेणी, राजपूत श्रेणी, कोलकाता श्रेणी।
  • फ्रिगेट: शिवालिक श्रेणी- शिवालिक , सतपुड़ा, सहयाद्रि।
  • तलवार श्रेणी: तलवार, त्रिशूल, तबर, तेग, तरकश, त्रिकंड।
  • ब्रह्मपुत्र श्रेणी: ब्रह्मपुत्र, ब्यास, बेतवा।
  • गोदावरी श्रेणी: गोदावरी, गोमती, गंगा।
  • नीलगिरी श्रेणी (लिएण्डर)।
  • कॉर्वेट।
  • कोरा श्रेणी: कोरा, किर्च, कुलिश, कर्मुक।
  • खुकरी श्रेणी: किरपाण, कुठार, खंजर, खुकरी।
  • वीर श्रेणी: वीर, निर्भीक, निपट, निःशंक, निर्घट, विभूति, विपुल, विनाश, विद्युत, नाशक, प्रलय, प्रबल।
  • अभय श्रेणी: अभय, अजय, अक्षय, अग्रय।
  • परियोजना 28: कामोर्ता।
  • पनडुब्बियाँ।
  • सिंधुघोष श्रेणी: सिंधुघोष, सिंधुध्वज, सिंधुराज, सिंधुवीर, सिंधुरत्न, सिंधुकेसरी, सिंधुकीर्ति, सिंधुविजय, सिंधुरक्षक, सिंधुराष्ट्र।
  • शिशुमार श्रेणी: शिशुमार, शंकुश, शल्कि, शंकुल।
  • फॉक्सट्रॉट श्रेणी, स्कोर्पीन श्रेणी।
  • परमाणु पनडुब्बियाँ।
  • अकुल श्रेणी: चक्र के अलावा भी कई अन्य शामिल है।

सामान्य ज्ञान अपनी ईमेल पर पाएं!

Leave a Reply

Your email address will not be published.