विश्व जैव विविधता दिवस (22 मई) – International Day for Biological Diversity

विश्व जैव विविधता दिवस (22 मई): (International Day for Biological Diversity in Hindi)

विश्व जैव विविधता दिवस कब मनाया जाता है?

संपूर्ण विश्व में 22 मई को ‘अंतरराष्ट्रीय जैव विविधता दिवस’ मनाया जाता है। इसे ‘विश्व जैव विविधता संरक्षण दिवस’ भी कहते हैं। इस वीएआरएसएच 2019 में अंतरराष्ट्रीय जैव विविधता दिवस का मुख्य विषय (थीम)- ‘‘हमारी जैव विविधता, हमारा भोजन, हमारा स्वास्थ्य” (Our Biodiversity, Our Food, Our Health) है। वहीं 2018 में इसका मुख्य विषय (थीम)- “जैव विविधता के लिए 25 साल की कार्रवाई का जश्न” (Celebrating 25 Years of Action for Biodiversity) था।

विश्व जैव विविधता दिवस का इतिहास:

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 20 दिसंबर, 2000 को 22 मई को ‘अंतरराष्ट्रीय जैव विविधता दिवस’ के रूप में घोषित किया था। इसके पीछे यूएनओ का मुख्य उद्देश्य यह था की विश्व में सभी लोगो को जैव विविधता के प्रति सतर्क किया जाये जिससे विश्व की जैव विविधताओं को बनी रहे और उसका संरक्षण किया जा सके।

विश्व जैव विविधता दिवस के विषय (Theme):

  • विश्व जैव विविधता दिवस 2019 की थीम: ‘‘हमारी जैव विविधता, हमारा भोजन, हमारा स्वास्थ्य” (Our Biodiversity, Our Food, Our Health)
  • विश्व जैव विविधता दिवस 2018 की थीम: “जैव विविधता के लिए 25 साल की कार्रवाई का जश्न (Celebrating 25 Years of Action for Biodiversity)”
  • विश्व जैव विविधता दिवस 2017 की थीम: “जैव विविधता और सतत पर्यटन (Biodiversity and Sustainable Tourism)”
  • विश्व जैव विविधता दिवस 2016 की थीम: “जैवविविधता को मुख्य धारा में लाना, लोगों एवं उनकी आजीविका को बनाए रखना (Mainstreaming Biodiversity; Sustaining People and their Livelihoods)”
  • विश्व जैव विविधता दिवस 2015 की थीम: “निरंतर विकास के लिए जैव विविधता (Biodiversity for Sustainable Development)”
  • विश्व जैव विविधता दिवस 2014 की थीम: “द्वीप जैव विविधता (Island Biodiversity)”
  • विश्व जैव विविधता दिवस 2013 की थीम: “जल और जैव विविधता (Water and Biodiversity)”
  • विश्व जैव विविधता दिवस 2012 की थीम: “समुद्री जैव विविधता (Marine Biodiversity)”
  • विश्व जैव विविधता दिवस 2011 की थीम: “वन जैव विविधता (Forest Biodiversity)”
  • विश्व जैव विविधता दिवस 2010 की थीम: “जैव विविधता, विकास और गरीबी उन्मूलन (Biodiversity, Development and Poverty Alleviation)”
  • विश्व जैव विविधता दिवस 2009 की थीम: “आक्रामक विदेशी प्रजातियां (Invasive Alien Species)”
  • विश्व जैव विविधता दिवस 2008 की थीम: “जैव विविधता और कृषि (Biodiversity and Agriculture)”
  • विश्व जैव विविधता दिवस 2007 की थीम: “जैव विविधता और जलवायु परिवर्तन (Biodiversity and Climate Change)”
  • विश्व जैव विविधता दिवस 2006 की थीम: “ड्रायलैंड्स में जैव विविधता की रक्षा करें (Protect Biodiversity in Drylands)”
  • विश्व जैव विविधता दिवस 2005 की थीम: “जैव विविधता: हमारी बदलती दुनिया के लिए जीवन बीमा (Biodiversity: Life Insurance for our Changing World)”
  • विश्व जैव विविधता दिवस 2004 की थीम: “जैव विविधता: सभी के लिए खाद्य, जल और स्वास्थ्य (Biodiversity: Food, Water and Health for All)”
  • विश्व जैव विविधता दिवस 2003 की थीम: “जैव विविधता और गरीबी उन्मूलन: सतत विकास के लिए चुनौतियां (Biodiversity and poverty alleviation – challenges for sustainable development)”
  • विश्व जैव विविधता दिवस 2002 की थीम: “जंगल जैव विविधता के लिए समर्पित (Dedicated to forest biodiversity)”

जैव विविधता किसे कहते है?

जैव विविधता, किसी दिये गये पारिस्थितिकी तंत्र, बायोम, या एक पूरे ग्रह में जीवन के रूपों की विभिन्नता का परिमाण है। जैव विविधता किसी जैविक तंत्र के स्वास्थ्य का द्योतक है। पृथ्वी पर जीवन आज लाखों विशिष्ट जैविक प्रजातियों के रूप में उपस्थित हैं।

जैव विविधता वाले देश:

विश्व के समृद्धतम जैव विविधता वाले 17 देशों में भारत भी सम्मिलित है, जिनमें विश्व की लगभग 70 प्रतिशत जैव विविधता विद्यमान है। अन्य 16 देश हैं- ऑस्ट्रेलिया, कांगो, मेडागास्कर, दक्षिण अफ़्रीका, चीन, इंडोनेशिया, मलेशिया, पापुआ न्यू गिनी, फिलीपींस, ब्राज़ील, कोलम्बिया, इक्वेडोर, मेक्सिको, पेरू, अमेरिका और वेनेजुएला। संपूर्ण विश्व का केवल 2.4 प्रतिशत भाग ही भारत में है, लेकिन यहां विश्व के ज्ञात जीव जंतुओं का लगभग 5 प्रतिशत भाग निवास करता है। ‘भारतीय वनस्पति सर्वेक्षण’ एवं ‘भारतीय प्राणी सर्वेक्षण’ द्वारा किये गये सर्वेक्षणों के अनुसार भारत में लगभग 49,000 वनस्पति प्रजातियाँ एवं 89,000 प्राणी प्रजातियाँ पाई जाती हैं। भारत विश्व में वनस्पति-विविधता के आधार पर दसवें, क्षेत्र सीमित प्रजातियों के आधार पर ग्यारहवें और फसलों के उद्भव तथा विविधता के आधार पर छठवें स्थान पर है।

जैव विविधता के प्रकार:

जैव विविधता से प्रकृति में मौजूद जीवों और पारिस्थितिकीय तंत्र के अंतर्संबंधों की जानकारी मिलती है। जैव विविधता से जीव, प्रजाति एवं उपयोगी पारिस्थितिक तंत्र के बीच आपसी संबंध हमें कई महत्वपूर्ण उत्पाद देते हैं, क्योंकि जीन, प्रजातियों के घटक हैं, प्रजातियां पारिस्थितिक तंत्र की। जैव विविधता तीन प्रकार की होती है-

  • एक ही प्रजाति के जीवों में होने वाली विविधताओं को अनुवांशिक विविधता।
  • प्रजाति विविधता, जिसमें एक ही प्रजाति के जीव एक दूसरे से काफ़ी समानता रखते हैं।
  • पारिस्थितिकी विविधता, जो आवास एवं जैव समुदाओं के अंतर को प्रदर्शित करती है।

भारत की जैव विविधता:

विश्व के बारह चिन्हित मेगा बायोडाइवर्सिटी केन्द्रों में से भारत एक है। विश्व के 18 चिन्हित बायोलाजिकल हाट स्पाट में से भारत में दो पूर्वी हिमालय और पश्चिमी घाट हैं। भारत सरकार ने देश भर में 18 बायोस्फीयर भंडार स्थापित किये हैं जो जीव जंतुओं के प्राकृतिक भू-भाग की रक्षा करते हैं और अकसर आर्थिक उपयोगों के लिए स्थापित बफर जोनों के साथ एक या ज्यादा राष्ट्रीय उद्यान और अभ्यारण्य को संरक्षित रखने का काम करते हैं।

भारत में जैव विविधता से सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्य:

  • भारत में विश्व का केवल 2.4 प्रतिशत भू-भाग है जिसके 7 से 8 प्रतिशत भू-भाग पर विश्व की विभिन्न प्रजातियां पाई जाती हैं।
  • प्रजातियों के समृद्धि के मामले में भारत स्तनधारियों में 7वें, पाक्षियों में 9वें और सरीसृप में 5वें स्थान पर है।
  • विश्व के 11 प्रतिशत के मुकाबले भारत में 44 प्रतिशत भू-भाग पर फसलें बोई जाती हैं।
  • भारत के लगभग 23.39 प्रतिशत भू-भाग पर पेड़ और जंगल फैले हुए हैं।
  • भारत में जैव विविधता के 4 हॉटस्पॉट केंद्र हैं-(i) हिमालय, (ii) भारत-म्यांमार सीमा (iii) सुंडालैंड्स (Sundalands) और (iv) पश्चिमी घाट
  • एक जैव विविधता वाला हॉटस्पॉट ऐसा जैविक भौगोलिक क्षेत्र है जिसे मनुष्यों से खतरा रहता है।
  • भारत में जैवविविधता के संरक्षण के लिए जैवविविधता अधिनियम, 2002 एक संघीय कानून है।
  • जो परंपरागत जैविक संसाधनों और ज्ञान के उपयोग से होने वाले लाभों के समान वितरण तंत्र प्रदान करता है।
  • इस अधिनियम को लागू करने के लिए राष्ट्रीय जैव विविधता प्राधिकरण (NBA) की स्थापना वर्ष 2003 में एक सांविधिक और स्वायत्त संस्था के रूप में हुई थी।
  • यह संस्था जैविक संसाधनों के साथ-साथ उनके सतत उपयोग से होने वाले लाभ की निष्पक्षता और समान बटवारे जैसे मुद्दों पर भारत सरकार के लिए सलाहकार और विनियामक की भूमिका निभाती है।
  • मरूभूमि राष्ट्रीय उद्यान भारत में जैवविविधता के संरक्षण और विकास के लिए एक अनूठा जीवमंडल रक्षित स्थान है।
  • यह राजस्थान राज्य के जैसलमेर जिले में स्थित है।
  • यह उद्यान थार रेगिस्तान के पारिस्थितिकी तंत्र का एक उत्कृष्ट उदाहरण है।

मई माह के महत्वपूर्ण दिवस की सूची - (राष्ट्रीय दिवस एवं अंतराष्ट्रीय दिवस):

तिथि दिवस का नाम - उत्सव का स्तर
01 मईअन्तरराष्ट्रीय श्रम दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
02 मईविश्व अस्थमा दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
02 मईमई मातृ दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
03 मईविश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
08 मईविश्व रेड क्रॉस दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
11 मईराष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस - राष्ट्रीय दिवस
11 मईअन्तरराष्ट्रीय नर्स दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
15 मईअन्तरराष्ट्रीय परिवार दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
17 मईविश्व दूरसंचार दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
18 मईअन्तर्राष्ट्रीय संग्रहालय दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
21 मईआतंकवाद विरोधी दिवस - राष्ट्रीय दिवस
22 मईअंतराराष्ट्रीय जैविक विविधता दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
31 मईविश्व तंबाकू विरोधी - अन्तरराष्ट्रीय दिवस

You just read: International Day For Biological Diversity In Hindi - IMPORTANT DAYS OF MAY MONTH Topic

Recent Posts

26 मई का इतिहास भारत और विश्व में – 26 May in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 26 मई यानि आज के दिन की…

May 26, 2020

24 मई का इतिहास भारत और विश्व में – 24 May in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 24 मई यानि आज के दिन की…

May 24, 2020

23 मई का इतिहास भारत और विश्व में – 23 May in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 23 मई यानि आज के दिन की…

May 23, 2020

22 मई का इतिहास भारत और विश्व में – 22 May in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 22 मई यानि आज के दिन की…

May 22, 2020

आतंकवाद विरोधी दिवस (21 मई) – Anti Terrorism Day

21-MAY - Anti Terrorism Day in Hindi. विदित हो कि 21 मई 1991 को तमिलनाडु…

May 21, 2020

21 मई का इतिहास भारत और विश्व में – 21 May in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 21 मई यानि आज के दिन की…

May 21, 2020

This website uses cookies.