अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस (17 अक्टूबर)


Inter National Days: International Day For The Eradication Of Poverty In Hindi



अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस: 17 अक्टूबर (International Day for The Eradication of Poverty in Hindi)

अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस कब मनाया जाता है?

प्रत्येक वर्ष संपूर्ण विश्व में 17 अक्टूबर को अंतर्राष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन के रूप में मनाया जाता है। वर्ष 2016 में इस दिवस का मुख्य विषय (Theme) ‘‘अपमान और बहिष्कार से आगे जाकर भागीदारी की ओर बढ़नाः गरीबी की इसके सभी रूपों में समाप्ति’’।

 अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस का इतिहास:

संयुक्त राष्ट्र द्वारा 22 दिसम्बर 1992 को प्रत्येक वर्ष 17 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस मनाये जाने की घोषणा की गयी। इस दिवस पर विभिन्न राष्ट्रों द्वारा गरीबी उन्मूलन के लिए प्रयास, विकास एवं विभिन्न कार्यों व योजनाओं को जारी किया जाता है।

यह दिवस पहली बार 1987 में फ्रांस में मनाया गया जिसमें लगभग एक लाख लोगों ने मानव अधिकारों के लिए प्रदर्शन किया था। यह आंदोलन एटीडी फोर्थ वर्ल्ड के संस्थापक जोसफ व्रेंसिकी द्वारा आरंभ किया गया। इसके अतिरिक्त गरीबी से लड़ाई सहस्राब्दि विकास लक्ष्यों (एमडीजी) और नए सतत विकास लक्ष्यों के विकास के मूल में निहित है।

 अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस का उद्देश्य:

इस दिवस का उद्देश्य विश्व समुदाय में गरीबी दूर करने के लिए किये जा रहे प्रयासों के संबंध में जागरूकता बढ़ाना है। इस दिवस पर विभिन्न राष्ट्रों द्वारा गरीबी उन्मूलन के प्रयास, विकास एवं विभिन्न कार्यों व योजनाओं को जारी किया जाता है।

भारत में गरीबी दर:

  • केंद्र सरकार ने 2012 में बताया कि भारत में 21.9 प्रतिशत आबादी गरीबी रेखा से नीचे रहती है।
  • विश्व बैंक की 2011 रिपोर्ट में कहा गया कि भारत की 23.6 प्रतिशत जनसंख्या (लगभग 276 मिलियन) की प्रतिदिन क्रय शक्ति 1।25 डॉलर प्रतिदिन है।
  • इसके अतिरिक्त 2016 में जारी अंतरराष्ट्रीय भुखमरी सूचकांक में भारत को 97वां स्थान मिला है। इसमें विकासशील देशों के लिए औसत दर 21.3 रखी गयी थी जबकि भारत की यह दर 28.5 प्रतिशत थी।

भारत में गरीबी एवं बेरोजगारी उन्मूलन कार्यक्रम और योजनाएं:

योजना प्रारम्भ उद्देश्य
प्रधानमंत्री ग्रामोदय योजना 2000–01 समग्र ग्रामीण विकास को सुनिश्चित करने के लिए ग्रामीण क्षेत्रें में स्वास्थ्य, शिक्षा, पेयजल, आवास, सड़कें एवं ग्रामीण विद्युतीकरण से संबंधित विकास योजनाएं चलाना।
प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना 25 दिसम्बर,2000 योजना के प्रथम चरण में 1,000 से अधिक आबादी वाले गांवों को अच्छी बारह मासी सड़कों से जोड़ना। दूसरे चरण में 500 से अधिक आबादी वाले गांवों को अच्छी बारह मासी सड़कों से जोड़ना एवं पहाड़ी, रेगिस्तानी एवं जनजातीय क्षेत्रें में 250 या इससे अधिक आबादी वाले गांवों को सड़कों से जोड़ना।
निर्मल भारत अभियान 15 अगस्त,2002 इस योजना के अंतर्गत खुले स्थान पर मल त्याग करने की प्रथा की समाप्ति एवं जीवन की गुणवत्ता में सुधार का लक्ष्य रखा गया है।
राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना अप्रैल, 2005 ग्रामीण क्षेत्रें में बिजली संबंधी आधारभूत ढांचे और घरों में बिजली उपलब्ध कराने का लक्ष्य।
भारत निर्माण योजना 16 दिसम्बर,2005 गांवों में आधारभूत सुविधाओं के विकास हेतु 6 क्षेत्रें— (1) सिंचाई, (2) सड़कें, (3) आवास, (4) जल आपूर्ति, (5) विद्युतीकरण, (6) दूर संचार में निर्धारित लक्ष्यों को 4 वर्षों में प्राप्त करने की योजना है।
मरुभूमि विकास योजना 1977–78 मरुभूमि को बढ़ने से रोकने, मरुभूमि में सूखे के प्रभाव को समाप्त करने एवं प्रभावित क्षेत्र में परिस्थितिकीय संतुलन बहाल करने, भूमि की उत्पादकता बढ़ाने एवं जल संसाधनों को बढ़ाने का लक्ष्य।
स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना 1 अप्रैल,1999 पूर्व में प्रचलित 6 योजनाओं—(1) IRDP, (2) DWCRA, (3) TRYSEM, (4) GKY, (5) MWS तथा (6) SITRA को इस योजना में विलय कर सहायता प्राप्त प्रत्येक परिवार को एक निश्चित अवधि में गरीबी रेखा से ऊपर उठाना था।
राष्ट्रीय ग्रामीण अजीविका मिशन 3 जून, 2011 ग्रामीण क्षेत्रें में स्वयं सहायता समूहों को सुदृढ़ करने एवं उनके माध्यम से निर्धनों की निर्धनता के निवारण के उद्देश्य से प्रारम्भ किया गया है।
मनरेगा 2 फरवरी,2006 ग्रामीण बेरोजगारी, भूख और गरीबी से निजात पाने के लिए मनरेगा का शुभारम्भ प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह द्वारा आन्ध्र प्रदेश के अनंतपुर जिले से किया गया।
सम्पूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना 5 सितम्बर,2001 ग्रामीण क्षेत्रें में रोजगार के अतिरिक्त एवं सुनिश्चित अवसर उपलब्ध कराने के साथ खाद्य खाद्यान्न उपलब्ध कराना भी है।
इंदिरा आवास योजना 1985–86 ग्रामीण क्षेत्रें में आवास की सुविधा उपलब्ध कराना।

नोटः स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना को पुनर्गठित कर राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन प्रारम्भ किया गया है।

अक्टूबर माह के महत्वपूर्ण दिवस की सूची - (राष्ट्रीय दिवस एवं अंतराष्ट्रीय दिवस):

तिथि दिवस का नाम - उत्सव का स्तर
02 अक्टूबरअन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
03 अक्टूबरविश्व पर्यावास दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
04 अक्टूबरविश्व पशु कल्याण दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
05 अक्टूबरविश्व शिक्षक (अध्‍यापक) दिवस (यूनेस्‍को) - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
09 अक्टूबरविश्व डाक दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
10 अक्टूबरविश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
12 अक्टूबरविश्‍व दृष्टि दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
14 अक्टूबरविश्व मानक दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
16 अक्टूबरविश्व खाद्य दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
17 अक्टूबरअन्तरराष्ट्रीय ग़रीबी उन्‍मूलन दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
20 अक्टूबरअंतरराष्ट्रीय ऑस्टियोपोरोसिस दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
21 अक्टूबरविश्व आयोडीन कमी दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
24 अक्टूबरविश्व पोलियो दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
24 अक्टूबरविश्‍व विकास सूचना दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
30 अक्टूबरविश्‍व मितव्‍ययता (बचत) दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
31 अक्टूबरराष्ट्रीय एकता दिवस - राष्ट्रीय दिवस
Spread the love, Like and Share!
  • 66
    Shares

Like this Article? Subscribe to Our Feed!

Leave a Reply

Your email address will not be published.