अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस अथवा विश्व शांति दिवस (21 सितम्बर)

Inter National Days: International Day Of Peace In Hindi

अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस अथवा विश्व शांति दिवस (21 सितम्बर): (21 September: International Day of Peace in Hindi)

अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस कब मनाया जाता है?

प्रत्येक वर्ष 21 सितम्बर को दुनिया भर में अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस अथवा विश्व शांति दिवस के रूप में मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र महासभा महासभा ने विश्व के सभी देशों के लोगों के बीच शांति के आदर्शों को मजबूत बनाने के लिए इस दिन (21 सितम्बर) को शांति के अंतरराष्ट्रीय दिवस के रूप में मानाने की घोषणा की थी।

अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस का इतिहास: 

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने सभी देशों और देश के भीतर लोगों के बीच शांति के आदर्शों को मजबूत बनाने के लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा वर्ष 1981 में अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस की स्थापना की गई थी। पहली बार 21 सितम्बर 1982 को अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस मनाया गया था। जिसमे कई देशों, राजनीतिक समूहों , सैन्य समूहों, के लोग शामिल थे। शांति के पहले अंतरराष्ट्रीय दिवस का विषय था “Right to peace of people.”।

वर्ष 1982 से 2001 तक सितम्बर महीने के तीसरे मंगलवार को ‘विश्व शांति दिवस’ के लिए चुना गया था, लेकिन बाद में वर्ष 2002 में 21 सितम्बर ‘अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस’ या ‘विश्व शांति दिवस’ के रूप में घोषित कर दिया गया।

अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस के विषय निम्नलिखित है:-

  • वर्ष 2011 के अंतरराष्ट्रीय दिवस का विषय था “Peace and Democracy: Make Your Voice Heard.”
  • वर्ष 2012 के अंतरराष्ट्रीय दिवस का विषय था “Sustainable Peace for a Sustainable Future. ”
  • वर्ष 2013 के अंतरराष्ट्रीय दिवस का विषय था “Focus on Peace education.”
  • वर्ष 2014 के अंतरराष्ट्रीय दिवस का विषय था “Right to peace.”
  • वर्ष 2015 के अंतरराष्ट्रीय दिवस का विषय था “ Partnerships for Peace – Dignity for All.”
  • वर्ष 2016 के अंतरराष्ट्रीय दिवस का विषय था “ The Sustainable Development Goals: Building Blocks for Peace.”

अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस का उद्देश्य: 

संयुक्त राष्ट्र का मुख्य उद्देश्य विश्व के सभी देशो में शांति कायम करना है। अंतरराष्ट्रीय संघर्ष को रोकने और शांति की संस्कृति विकसित करने के लिए ही संयुक्त राष्ट्र का जन्म हुआ है। संघर्ष, आतंक और अशांति के इस दौर में अमन की अहमियत का प्रचार-प्रसार करना बेहद जरूरी और प्रासंगिक हो गया है। इसलिए संयुक्त राष्ट्रसंघ, और उसकी तमाम संस्थाएँ, गैर-सरकारी संगठन, सिविल सोसायटी और राष्ट्रीय सरकारें प्रतिवर्ष 21 सितम्बर को ‘अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस’ का आयोजन करती हैं। शांति का संदेश दुनिया के कोने-कोने में पहुँचाने के लिए संयुक्त राष्ट्र ने कला, साहित्य, सिनेमा, संगीत और खेल जगत की विश्वविख्यात हस्तियों को शांतिदूत के रूप में भी नियुक्त कर रखा है।

भारत और विश्व शांति:

पण्डित जवाहरलाल नेहरू ने विश्व में शांति और अमन स्थापित करने के लिए पाँच मूल मंत्र दिए थे, इन्हें ‘पंचशील के सिद्धांत’ भी कहा जाता है। यह पंचसूत्र, जिसे ‘पंचशील’ भी कहते हैं, मानव कल्याण तथा विश्व शांति के आदर्शों की स्थापना के लिए विभिन्न राजनीतिक, सामाजिक तथा आर्थिक व्यवस्था वाले देशों में पारस्परिक सहयोग के पाँच आधारभूत सिद्धांत हैं। इसके अंतर्गत निम्नलिखित पाँच सिद्धांत निहित हैं-

  • एक दूसरे की प्रादेशिक अखंडता और प्रभुसत्ता का सम्मान करना।
  • एक दूसरे के विरुद्ध आक्रामक कार्यवाही न करना।
  • एक दूसरे के आंतरिक विषयों में हस्तक्षेप न करना।
  • समानता और परस्पर लाभ की नीति का पालन करना।
  • शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व की नीति में विश्वास रखना।
  • माना जाता है अगर विश्व उपरोक्त पाँच बिंदुओं पर अमल करे तो हर तरफ़ चैन और अमन का ही वास होगा।

"सितम्बर" माह में मनाये जाने वाले महत्वपूर्ण राष्ट्रीय दिवस एवं अंतराष्ट्रीय दिवस की सूची:

तिथि दिवस का नामउत्सव का स्तर
02 सितम्बरविश्व नारियल दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस
05 सितम्बरशिक्षक दिवस (डॉक्टर राधाकृष्ण जन्म दिवस) राष्ट्रीय दिवस
08 सितम्बरविश्व साक्षरता दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस
14 सितम्बरविश्व बन्धुत्व और क्षमायाचना दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस
14 सितम्बरहिन्दी दिवस: भारतराष्ट्रीय दिवस
15 सितम्बरअभियंता (इंजीनियर्स) दिवसराष्ट्रीय दिवस
16 सितम्बरविश्व ओज़ोन परत संरक्षण दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस
17 सितम्बरविश्वकर्मा जयंतीराष्ट्रीय दिवस
21 सितम्बरअन्तरराष्ट्रीय शांति दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस
26 सितम्बरविश्व मूक बधिर दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस
27 सितम्बरविश्व पर्यटन दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस
29 सितम्बरविश्व हृदय दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस

सामान्य ज्ञान अपनी ईमेल पर पाएं!

Leave a Reply

Your email address will not be published.