राष्‍ट्रीय सांख्यिकी दिवस (29 जून)

Inter National Days: National Statistics Day In Hindi

राष्‍ट्रीय सांख्यिकी दिवस (29 जून): (29 June: National Statistics Day in Hindi)

राष्‍ट्रीय सांख्यिकी दिवस कब मनाया जाता है?

भारत में प्रत्येक वर्ष 29 जून को राष्‍ट्रीय सांख्यिकी दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह दिवस प्रसिद्ध भारतीय वैज्ञानिक एवं सांख्यिकीविद पी. सी. महालनोबिस के आर्थिक योजना और सांख्‍यि‍की विकास के क्षेत्र में उल्‍लेखनीय योगदान के सम्‍मान में मनाया जाता है।

29 जून, 2016 को सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय द्वारा देश में ‘10 वां सांख्यिकी दिवस’ मनाया गया। वर्ष 2016 में इस दिवस का मुख्य विषय-‘कृषि तथा कृषक कल्याण’ था।

राष्‍ट्रीय सांख्यिकी दिवस का उद्देश्‍य:

राष्‍ट्रीय सांख्यिकी दिवस को मनाने का उद्देश्‍य सामाजिक-आर्थिक नियोजन और नीति निर्धारण में प्रो. महालनोबिस की भूमिका के बारे में जनता में, विशेषकर युवा पीढ़ी में जागरूकता जगाना तथा उन्‍हें प्रेरित करना है।

राष्‍ट्रीय सांख्यिकी दिवस का इतिहास:

भारत की आजादी के बाद आर्थिक योजना तथा सांख्‍यिकीय विकास के क्षेत्र में प्रोफ़ेसर पी. सी. महालनोबिस द्वारा किए गए उल्‍लेखनीय योगदान को ध्‍यान में रखते हुए ‘भारत सरकार’ ने प्रतिवर्ष उनके जन्‍म दिवस ’29 जून’ को राष्‍ट्रीय स्‍तर पर विशेष दिवस की श्रेणी के अंतर्गत रखकर “सांख्‍यिकी दिवस” के रूप में मनाने का निर्णय लिया था। इस आशय की अधिसूचना दिनांक 5 जून, 2007 को भारत के राजपत्र में प्रकाशित की गई थी। यह दिवस राष्‍ट्रीय विकास में सरकारी सांख्‍यिकी के महत्त्व को उजागर करने के लिए संगोष्‍ठियों, चर्चाओं तथा प्रतियोगिताओं को आयोजित करके मनाया जाता है।

सांख्यिकी दिवस (Statistics Day) से संबंधित मुख्य तथ्य:

  • आर्थिक योजना और सांख्यिकी विकास के क्षेत्र में प्रशांत चन्द्र महालनोबिस के उल्लेखनीय योगदान के सम्मान में भारत सरकार उनके जन्मदिन 29 जून को प्रत्येक वर्ष सांख्यिकी दिवस के रूप में मनाती है।
  • यह दिवस राष्ट्रीय स्तर पर मनाया जाता है।
  • इस दिन को मनाने का उद्देश्य सामाजिक-आर्थिक नियोजन और नीति निर्धारण में प्रो प्रशांत चन्द्र महालनोबिस की भूमिका के बारे में जनता में, विशेषकर युवा पीढ़ी में जागरूकता जगाना तथा उन्हें प्रेरित करना है।
  • सांख्यिकी दिवस देशभर में सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय, राज्य सरकारों, राष्ट्रीय प्रतिदर्श सर्वेक्षण के देश भर के कार्यालयों, भारतीय सांख्यिकीय संस्थान, विश्वविद्यालयों/विभागों आदि में संगोष्ठियों, सम्मेलनों, वाद-विवाद, क्विज कार्यक्रमों, व्याख्यान मालाओं, निबंधन प्रतियोगिता आदि के माध्यम से मनाया जाता है।

सामान्य ज्ञान अपनी ईमेल पर पाएं!

Leave a Reply

Your email address will not be published.