विश्व पुस्तक एवं कॉपीराइट दिवस (23 अप्रैल)

Inter National Days: World Book And Copyright Day In Hindi

विश्व पुस्तक एवं कॉपीराइट दिवस (23 अप्रैल): (World Book and Copyright Day in Hindi)

विश्व पुस्तक एवं कॉपीराइट दिवस कब मनाया जाता है?

प्रतिवर्ष संपूर्ण विश्व में 23 अप्रैल को ‘विश्व पुस्तक एवं कॉपीराइट दिवस’ मनाया जाता है। इस वर्ष ग्रीस (यूनान) की राजधानी एथेंस शहर को विश्व पुस्तक राजधानी (World Book Capital) चुना गया है।

प्रत्येक वर्ष, यूनेस्को और 3 प्रमुख पुस्तक उद्योग के क्षेत्रों-प्रकाशकों, पुस्तक विक्रेताओं और पुस्तकालयों का प्रतिनिधित्व करने वाले अंतर्राष्ट्रीय संगठनों द्वारा एक वर्ष की अवधि के लिए ‘विश्व पुस्तक राजधानी’ का चयन किया जाता है। यह अवधि 23 अप्रैल से लागू होती है।

विश्व पुस्तक एवं कॉपीराइट दिवस का इतिहास:

वर्ष 1995 में पेरिस में आयोजित यूनेस्को की सामान्य सभा में 23 अप्रैल को ‘विश्व पुस्तक एवं कॉपीराइट दिवस’ मनाने का निर्णय लिया गया था। तब से यह दिवस प्रतिवर्ष मनाया जा रहा है। 23 अप्रैल विश्व साहित्य में एक प्रतीकात्मक तिथि है। वर्ष 1616 में 23 अप्रैल को ही साहित्यकार विलियम शेक्सपियर, सेर्वंटेस और इंका गार्सिलासो का निधन हुआ था।

विश्व पुस्तक एवं कॉपीराइट दिवस का उद्देश्य:

इस दिवस को मनाने का उद्देश्य है-जीवन को बेहतर बनाने के लिए पुस्तकों की शक्ति को पहचानना है। आमतौर पर, इसे लेखक, चित्रकार के द्वारा आम लोगों के बीच में पढ़ने को प्रोत्साहन देने के लिये मनाया जाता है। किताबों को और पढ़ने के लिये ये विश्व स्तर का उत्सव है और 100 से ज्यादा देशों में मनाया जाता है।

विश्व पुस्तक का महत्व:

आम सभा में यूनेस्को के द्वारा विश्व पुस्तक दिवस उत्सव की तारीख को निश्चित किया गया जो 1995 में पेरिस में रखा गया था। लगभग 100 देशों से अधिक इच्छुक लोग ऐच्छिक संगठनों, विश्वविद्यालयों स्कूलों, सरकारी या पेशेवर समूहों, निजी व्यापार आदि से जुड़ें। विश्व पुस्तक और कॉपीरइट दिवस उत्सव विश्व भर के सभी महाद्वीपों और सांस्कृतिक पृष्ठभूमि से लोगों को आकर्षित करता है। ये लोगों को नये विचार को खोजने और अपने ज्ञान को फैलाने में सक्षम बनाता है। किताबें विरासत का ख़जाना, संस्कृति, ज्ञान की खिड़की, संवाद के लिये यंत्र, संपन्नता का स्रोत आदि हैं।

विश्व पुस्तक दिवस विषय (थीम):

  • विश्व पुस्तक दिवस 2015 का थीम है “दुनिया को पढ़ों।”
  • विश्व पुस्तक दिवस 2014 का थीम था “तेज बनो-किताबें पढ़ों।”
  • विश्व पुस्तक दिवस 2013 का थीम था “पढ़ना; प्रकाशन और कॉपीराइट के द्वारा बौद्धिक संपदा की सुरक्षा।”
  • विश्व पुस्तक दिवस 2012 का थीम था “किताबें और अनुवाद।”
  • विश्व पुस्तक दिवस 2011 का थीम था “किताब निर्माण का विकास, लिखने से डिजिटल तक।”
  • विश्व पुस्तक दिवस 2010 का थीम था “संस्कृति के मेल-जोल के लिये अंतरराष्ट्रीय वर्ष।”
  • विश्व पुस्तक दिवस 2009 का थीम था “गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा का विकास और प्रकाशन और मानवाधिकार के बीच जुड़ाव।”
  • विश्व पुस्तक दिवस 2008 का थीम था “भाषा का अंतरराष्ट्रीय वर्ष।”
  • विश्व पुस्तक दिवस 2007 का थीम था “पढ़ाई उपाय है।”
  • विश्व पुस्तक दिवस 2006 का थीम था “साक्षरता जीवन बदल देती है।”
  • विश्व पुस्तक दिवस 2005 का थीम था “पढ़ाई हमेशा के लिये है।”
  • विश्व पुस्तक दिवस 2004 का थीम था “पढ़ना; एक अनवरत यात्रा।”
  • विश्व पुस्तक दिवस 2003 का थीम था “जीवन के लिये दोस्त।”
  • विश्व पुस्तक दिवस 2001 का थीम था “खुशी के घंटे।”
  • विश्व पुस्तक दिवस 1999 का थीम था “एक किताब दो।”
  • विश्व पुस्तक दिवस 1998 का थीम था “पढ़ना ठंडी हवा है।”

"अप्रैल" माह में मनाये जाने वाले महत्वपूर्ण राष्ट्रीय दिवस एवं अंतराष्ट्रीय दिवस की सूची:

तिथि दिवस का नामउत्सव का स्तर
02 अप्रैलविश्व ऑटिज्म जागरूकता दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस
05 अप्रैलराष्ट्रीय समुद्री दिवसराष्ट्रीय दिवस
06 अप्रैलविकास एवं शांति के लिए अन्तरराष्ट्रीय खेल दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस
07 अप्रैलविश्व स्वास्थ्य दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस
10 अप्रैलविश्व होम्योपैथी दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस
17 अप्रैलविश्व हीमोफिलिया दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस
18 अप्रैलविश्‍व विरासत (धरोहर) दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस
21 अप्रैलभारतीय सिविल सेवा दिवसराष्ट्रीय दिवस
22 अप्रैलअन्तरराष्ट्रीय मातृ पृथ्वी दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस
23 अप्रैलविश्व पुस्तक दिवस अथवा विश्व पुस्तक कॉपीराइट (प्रतिलिप्‍याधिकार) दिवस (यूनेस्‍को)अन्तरराष्ट्रीय दिवस
24 अप्रैलपंचायती राज दिवसराष्ट्रीय दिवस
25 अप्रैलविश्व मलेरिया दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस
29 अप्रैलविश्व नृत्य दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस

सामान्य ज्ञान अपनी ईमेल पर पाएं!

Leave a Reply

Your email address will not be published.