विश्व पर्यावास दिवस (अक्टूबर माह का प्रथम सोमवार) पर निबंध हिंदी में

विश्व पर्यावास दिवस (अक्टूबर माह का प्रथम सोमवार) | World Habitat Day in Hindi

विश्व पर्यावास दिवस (अक्टूबर माह का पहला सोमवार): (World Habitat Day in Hindi)

विश्व पर्यावास दिवस कब मनाया जाता है?

प्रत्येक वर्ष अक्टूबर महीने के पहले सोमवार को विश्व पर्यावास दिवस मनाया जाता है। वर्ष 1985 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने अक्टूबर में प्रथम सोमवार को हर साल विश्व पर्यावास दिवस को मनाने की घोषणा की थी।

विश्व पर्यावास दिवस 2017:

इस साल 02 अक्टूबर, सोमवार को विश्व पर्यावास दिवस मनाया जायेगा।

विश्व पर्यावास दिवस का इतिहास:

वर्ष 1986 में पहली बार  विश्व पर्यावास दिवस का आयोजन किया गया था, जबकि इस दिवस का मूल उद्देश्य “आवास मेरा अधिकार है” था। इस आयोजन का स्थल नैरोबी शहर था। इसके अलावा इस आयोजन के निम्नलिखित उद्देश्य भी रहे-

  • बेघर के लिए आश्रय (1987)
  • हमारा पड़ोस (1995)
  • भविष्य के शहर (1997)
  • सुरक्षित शहर (1998)
  • शहरी शासन में महिला (2000)
  • शहरों के लिए पानी और स्वच्छता (2001)
  • शहरों के बिना मलिन बस्तियों (2003)

विश्व पर्यावास दिवस का उद्देश्य:

इस दिन का मूल उद्देश्य मानवता के मूल अधिकार की पहचान करने और उन्हें पर्याप्त आश्रय देना था। इसके अलावा गरीबी को समाप्त करने और उसमें सुधर करने के लिए जमीनी स्तर पर कार्रवाई के लिए प्रोत्साहित करना है। वर्ष 2016 में इस दिवस का मुख्य विषय-“केंद्र में आवास” था।

पर्यावास स्क्रॉल ऑफ ऑनर:

पर्यावास स्क्रॉल ऑफ ऑनर पुरस्कार संयुक्त राष्ट्र द्वारा आयोजित ह्यूमन सेटलमेंट प्रोग्राम (UNHSP) के तहत वर्ष 1989 से दिया जा रहा है यह पुरस्कार मानव पर्यावास की दिशा में किए जानेवाले उल्लेखनीय योगदान हेतु दिया जाता है।

विश्व पर्यावास दिवस के बारे में कुछ तथ्य:

  • विश्व पर्यावास दिवस एक वैश्विक अनुपालन है ना कि एक सार्वजनिक अवकाश है।
  • हर साल यूएन हैबिटेट प्रतिवर्ष के लिए निर्धारित थीम को प्रचार-प्रसार करने और पर्यावास को बढ़ावा देने के सन्दर्भ में जागरूकता को बढ़ाने के लिए गतिविधियों का आयोजन करता है, जिसमें हिस्सा लेने के लिए केंद्र सरकार, स्थानीय सरकार, नागरिक समाज, निजी क्षेत्र और मीडिया उसके सहयोगियों के रूप में कार्य करते हैं।
  • ‘पर्यावास स्क्रॉल ऑफ ऑनर’ पुरस्कार, संयुक्त राष्ट्र के मानव बस्ती कार्यक्रम (यूएनएचएसपी) द्वारा वर्ष 1989 से शुरू किया गया था। इस पुरस्कार को दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित मानव बस्ती पुरस्कार के तौर पर माना जाता है। इस पुरस्कार का मूल उद्देश्य ऐसे कार्यों को प्रारंभ करना है जो संघर्षरत और बेघर लोगों की पीड़ा को न केवल समझ सके बल्कि उन्हें दूर भी कर सके। इसके अलावा मानव बस्तियों के पुनर्निर्माण में सहयोग कर सके और शहरी जीवन की गुणवत्ता के विकास में सहयोग दे सके।

विविध तथ्य:

संयुक्त राष्ट्र पर्यावास मिशन के अंतर्गत विविध तथ्य समाहित होते हैं, जैसे-

  • सभी के लिए सुरक्षित और स्वस्थ रहने वाले पर्यावरण का विकास विशेष रूप से बच्चों के लिए।
  • पर्याप्त और टिकाऊ परिवहन और ऊर्जा।
  • शहरी क्षेत्रों में हरियाली की स्थापना और पौधरोपण की व्यवस्था।
  • शुद्ध और सुरक्षित पीने के पानी के साथ ही स्वच्छता।
  • सांस लेने के लिए ताजा और प्रदूषण से रहित हवा।
  • लोगों के लिए पर्याप्त रोजगार के अवसर।
  • झुग्गी में रहने वाले लोगो में सुधार और शहरी योजना में वृद्धि।
  • अपशिष्ट पदार्थ की पुनरावृत्ति सहित बेहतर कचरा प्रबंधन।

अक्टूबर माह के महत्वपूर्ण दिवस की सूची - (राष्ट्रीय दिवस एवं अंतराष्ट्रीय दिवस):

तिथि दिवस का नाम - उत्सव का स्तर
02 अक्टूबरअन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
03 अक्टूबरविश्व पर्यावास दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
04 अक्टूबरविश्व पशु कल्याण दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
05 अक्टूबरविश्व शिक्षक (अध्‍यापक) दिवस (यूनेस्‍को) - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
09 अक्टूबरविश्व डाक दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
10 अक्टूबरविश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
12 अक्टूबरविश्‍व दृष्टि दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
14 अक्टूबरविश्व मानक दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
16 अक्टूबरविश्व खाद्य दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
17 अक्टूबरअन्तरराष्ट्रीय ग़रीबी उन्‍मूलन दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
20 अक्टूबरअंतरराष्ट्रीय ऑस्टियोपोरोसिस दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
21 अक्टूबरविश्व आयोडीन कमी दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
24 अक्टूबरविश्व पोलियो दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
24 अक्टूबरविश्‍व विकास सूचना दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
30 अक्टूबरविश्‍व मितव्‍ययता (बचत) दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
31 अक्टूबरराष्ट्रीय एकता दिवस - राष्ट्रीय दिवस
(Visited 12 times, 1 visits today)

Like this Article? Subscribe to Our Feed!

Leave a Reply