विश्व मच्छर दिवस (20 अगस्त)

विश्व मच्छर दिवस (20 अगस्त): (20 August: World Mosquito Day in Hindi)

विश्व मच्छर दिवस कब मनाया जाता है?

सम्पूर्ण विश्व में प्रत्येक वर्ष 20 अगस्त को विश्व मच्छर दिवस मनाया जाता हैं। यह दिवस पेशेवर चिकित्सक सर रोनाल्ड रास की स्मृति में मनाया जाता हैं, जिन्होंने वर्ष 1897 में यह खोज़ की थी कि मनुष्य में मलेरिया जैसी जानलेवा बीमारी के संचरण के लिए मादा मच्छर उत्तरदायी है।

विश्व मच्छर दिवस का इतिहास:

विश्व मच्छर दिवस की शुरुआत 20 अगस्त 1897 से हुई। लिवरपूल स्कूल ऑफ ट्रॉपिकल मेडिसिन के ब्रिटिश डॉ. रोनाल्ड रॉस ने इसी दिन खोज की कि मलेरिया के संवाहक मादा एनॉफिलीज मच्छर होते हैं। बाद में उनके प्रयास से मच्छर जनित बीमारियों की रोकथाम और उपचार के लिए दुनियाभर में अभियान चले और मलेरिया से हजारों लोगों की जान बचाई जा सकी। इसी योगदान के लिए उन्हें 1902 में चिकित्सा के लिए नोबेल पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया था।

मच्छर का छोटा डंक – बड़ा ख़तरा पैदा कर सकता हैं। मच्छर का काटना घातक हो सकता है। मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया, जापानी इन्सेफेलाइटिस, फाइलेरिया,ज़ीका वायरस और पीत ज्वर जैसी बीमारियों के कारण जीवन को गंभीर ख़तरा भी हो सकता हैं।

मच्छरों से होने वाले रोग:

  • डेंगू: डेंगू मच्छर बरसात के मौसम में पनपने वाला मच्छर है। इसका वायरस DENV-1, DENV-2, DENV-3, DENV-4 वायरस होता है। इसके काटे जाने पर तेज बुखार आता है। इसे हड्डी तोड़ बुखार भी कंहा जाता है। डेंगू दिन में काटने वाले मादा मच्छर एडीज एजिप्टी से फैलता है। इसमें व्यक्ति को तेज़ बुखार, सिरदर्द, आंखों के पीछे दर्द, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द और शरीर पर फुंसियां हो जाती हैं।
  • मलेरिया: मलेरिया बीमारी मादा एनोफ़ेलीज़ मच्छर के काटे जाने से होता है। यह मच्छर भी बरसात के मौसम में ही पनपता है मलेरिया रोग परजीवी प्लाजमोडियम से फैलने वाला रोग है।
  • चिकनगुनिया: इसका नाम सुनने में सड़क पर मिलने वाले स्वादिष्ट खाद्य पदार्थ की तरह लगता है। लेकिन यह एक तकलीफ़देह बीमारी है जिसमें तेज बुख़ार और जोड़ों में दर्द होता है। चिकनगुनिया का पता पहली बार तंजानिया में 1952 में चला था। इसका नाम किमाकोंडे भाषा से लिया गया है, जिसका अर्थ होता है ”विकृत होना।”
  • पीत ज्वर या येलो फ़ीवर: पीत ज्वर एक वायरस से फैलता है, जो हर साल क़रीब दो लाख लोगों को प्रभावित करता है, इनमें सबसे अधिक लोग उप-सहारा अफ़्रीका के होते हैं।
  • ला क्रोसे इंसेफ़लाइटिस: मच्छर से पैदा होने वाले इस वायरस का नाम अमरीका के विस्कॉन्सिन राज्य के ला क्रोसे शहर के नाम पर पड़ा, जहां पहली बार 1963 में, इसका पता चला था।

मच्छरों से बचाव (सावधानिया):

बारिश के दिनों में, मच्छरों के पनपने और कई बीमारियों के संचरण हेतु अनुकूल परिस्थितियां निर्मित हो जाती हैं। विश्व भर में मच्छरों की हजारों प्रजातियों हैं, जिनमें से कुछ बहुत ज़्यादा हानिकारक होती हैं। नर मच्छर पराग (पेड़-पौधों) का रस चूसते हैं, जबकि मादा मच्छर अपने पोषण के लिए मनुष्य का खून चूसती हैं। जब मादा मच्छर मनुष्य का खून चूस लेती हैं, तब यह मनुष्य में प्राण घातक संक्रमण को संचारित करने वाले घटक के तौर पर कार्य करती हैं, जिसके कारण मानव जीवन हेतु उत्तरदायी ख़तरनाक बीमारियां पैदा हो सकती हैं।

मच्छरों के काटने से कैसे बचें:-

  • जगह-जगह पर पानी न भरने दे या जंहा पानी भरे वंहा पर मिटटी का तेल या पेट्रोल की कुछ बुँदे रोजाना डाले।
  • विटामिन की अधिकता वाली चींजे खाए, जैंसे -आंवला , संतरा।
  • पानी की टंकियो,  कूलर, ट्यूब तथा टायरो में पानी इकट्ठा न होने दे।
  • कूलर का पानी प्रतिदिन बदले।
  • पानी की टंकियो को सही से बंद करे।
  • खाने में ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करे ,दो से तीन चुटकी हल्दी पानी के साथ ले।
  • हल्दी को सुबह आधा चम्मच पानी के साथ या रात को दूध के साथ सेवन करे।
  • तुलसी के पत्तो को शहद के साथ पानी में उबाल कर पीये।
  • यदि ज्यादा नजला, जुकाम हो तो रात को दूध न पीये।
  • नाक के अन्दर सरसों का तेल लगाये।  तेल की चिकनाहट के कारण बाहर से आने वाले बैक्टीरिया को नाक के अन्दर जाने से रोकती है।
  • यदि बार -बार उल्टी हो रही है तो सेब के रस में नींबू मिलाकर ले।
  • स्थिति ख़राब हो तो गेंहू के जवारे के रस निकालकर दिन में 2-3 बार ले।
  • गिलोय के बेल की डंडी का काढ़ा बनाकर दे।
  • खराब राहू तथा शनि वाले व्यक्ति को मच्छर से काटे जाने की समस्या होती है।

मच्छरों से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य:

  • एक संक्रमित मच्छर सिर्फ काटने से इंसान को मलेरिया पहुंचा सकता है। यदि कोई मलेरिया फैलाने वाला मच्छर आपको काटता है, तो परजीवी आपके शरीर को संक्रमित करने वाले रक्तप्रवाह में निकल जाएगा।
  • सभी मच्छर मलेरिया का संचार का संचार नहीं करते केवल संक्रमित मादा एनोफिलिस ही मनुष्यों को मलेरिया पहुंचा सकती है।
  • मच्छर आमतौर पर दिन में नहीं काटते हैं। वे रात में और रात में सबसे अधिक सक्रिय होते हैं। हालांकि, पूरे दिन के दौरान संरक्षित रहना महत्वपूर्ण है!
  • 2018 में, विश्व स्तर पर मलेरिया से अनुमानित 405 000 मौतें हुईं, जबकि 2017 में 416 000 अनुमानित मृत्यु और 2010 में 585 000 थी।
  • मलेरिया 100 से अधिक देशों में पाया जाता है, मुख्य रूप से दुनिया के उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में। हालांकि, दुनिया के लगभग 70% मलेरिया का बोझ 11 देशों में केंद्रित है: 10 अफ्रीकी महाद्वीप और भारत पर। जबकि मलेरिया यूके में नहीं पाया जाता है, यह उन यात्रियों में निदान किया जा सकता है जो स्थानिक देशों से यूके लौटते हैं।
  • 2018 में अधिकांश मलेरिया के मामले विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) अफ्रीकी क्षेत्र (213 मिलियन या 93%) में थे, इसके बाद WHO दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र में 3.4% मामलों में और WHO पूर्वी भूमध्यसागरीय क्षेत्र 2.1% के साथ था।
  • 2019 में शुरू, 3 उप-सहारा अफ्रीकी देशों – घाना, केन्या और मलावी – ने डब्ल्यूएचओ द्वारा समन्वित एक बड़े पैमाने पर पायलट प्रोग्राम के हिस्से के रूप में मध्यम से उच्च मलेरिया संचरण के चयनित क्षेत्रों में वैक्सीन की शुरुआत की। इसका उद्देश्य 3 देशों में चयनित क्षेत्रों में प्रति वर्ष लगभग 360 000 बच्चों का टीकाकरण करना है। प्रत्येक देश के नियमित टीकाकरण कार्यक्रम के माध्यम से टीकाकरण प्रदान किया जा रहा है।
  • जीएसके (GSK) ने 30 साल की अवधि में आरटीएस (RTS) के विकास का नेतृत्व किया। 2001 में, जीएसके ने आरटीएस को जारी रखने के लिए पीएटीएच (PATH’s) के मलेरिया वैक्सीन इनिशिएटिव (एमवीआई) के साथ सहयोग करना शुरू किया। 2009 और 2014 के बीच GSK, MVI (बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के समर्थन के साथ) और 7 देशों में 11 साइटों पर अफ्रीकी अनुसंधान केंद्रों के एक नेटवर्क के माध्यम से 5 साल के चरण 3 प्रभावकारिता और सुरक्षा परीक्षण किया गया था। जीएसके (GSK) वर्तमान में वैक्सीन निर्माता है।

अगस्त माह के महत्वपूर्ण दिवस की सूची - (राष्ट्रीय दिवस एवं अंतराष्ट्रीय दिवस):

तिथि दिवस का नाम - उत्सव का स्तर
01 अगस्तविश्व स्तन दूध दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
02 अगस्तसंस्कृत दिवस - राष्ट्रीय दिवस
03 अगस्तअन्तरराष्ट्रीय मैत्री दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
10 अगस्तडेंगू निरोधक (रोकथाम) दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
12 अगस्तअंतरराष्ट्रीय युवा दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
13 अगस्तअंग दान दिवस - राष्ट्रीय दिवस
15 अगस्तस्वतंत्रता दिवस - राष्ट्रीय दिवस
19 अगस्तविश्व फोटोग्राफी दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
20 अगस्तसद्भावना दिवस (राजीव गाँधी जयन्ती/जन्म दिवस) - राष्ट्रीय दिवस
20 अगस्तविश्व मच्छर दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
29 अगस्तराष्ट्रीय खेल दिवस (ध्यानचंद का जन्म दिवस) - राष्ट्रीय दिवस
30 अगस्तअंतर्राष्ट्रीय लघु उद्योग दिवस - अंतर्राष्ट्रीय दिवस

This post was last modified on August 20, 2020 9:04 am

You just read: World Mosquito Day In Hindi - IMPORTANT DAYS OF AUGUST MONTH Topic

Recent Posts

28 सितम्बर का इतिहास भारत और विश्व में – 28 September in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 28 सितम्बर यानि आज के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में।…

September 28, 2020

राजा राममोहन राय का जीवन परिचय-Raja Ram Mohan Roy Biography

इंग्लैण्ड का दौरा करने वाले प्रथम भारतीय: राजा राममोहन राय का जीवन परिचय: (Biography of Raja Ram Mohan Roy in…

September 27, 2020

27 सितम्बर का इतिहास भारत और विश्व में – 27 September in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 27 सितम्बर यानि आज के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में।…

September 27, 2020

2020 में पारित बिलों की सूची- List of important bills passed in the year 2020

विधेयक का अर्थ 'विधेयक' अंग्रेजी के बिल (Bill) का हिन्दी रूपान्तरण है। इस लेख में 'बिल' शब्द का प्रयोग 'संसद…

September 26, 2020

भारत के प्रथम सिक्ख प्रधानमंत्री: डॉ. मनमोहन सिंह का जीवन परिचय

डॉ. मनमोहन सिंह का जीवन परिचय (Biography of First Indian Sikh Prime Minister Dr. Manmohan Singh in Hindi) डॉ. मनमोहन…

September 26, 2020

विश्व मूक बधिर दिवस (26 सितम्बर)

विश्व मूक बधिर दिवस (26 सितम्बर): (26 September: World Deaf-Dumb Day in Hindi) विश्व मूक बधिर दिवस कब मनाया जाता है? हर…

September 26, 2020

This website uses cookies.