महात्मा गांधी का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी

✅ Published on January 30th, 2021 in प्रसिद्ध व्यक्ति, स्वतंत्रता सेनानी

इस अध्याय के माध्यम से हम जानेंगे महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) से जुड़े महत्वपूर्ण एवं रोचक तथ्य जैसे उनकी व्यक्तिगत जानकारी, शिक्षा तथा करियर, उपलब्धि तथा सम्मानित पुरस्कार और भी अन्य जानकारियाँ। इस विषय में दिए गए महात्मा गांधी से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों को एकत्रित किया गया है जिसे पढ़कर आपको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में मदद मिलेगी। Mahatma Gandhi Biography and Interesting Facts in Hindi.

महात्मा गांधी के बारे में संक्षिप्त जानकारी

नाममहात्मा गांधी (Mahatma Gandhi)
वास्तविक नाम / उपनाममोहनदास करमचंद गांधी / बापू
जन्म की तारीख02 अक्टूबर 1869
जन्म स्थानपोरबंदर, गुजरात (भारत)
निधन तिथि30 जनवरी 1948
माता व पिता का नामतलीबाई गाँधी / करमचन्द गाँधी
उपलब्धि1942 - अंग्रेजो भारत छोड़ो आन्दोलन
पेशा / देशपुरुष / वकील / भारत

महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi)

महात्मा गांधी भारत एवं भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के एक प्रमुख राजनैतिक एवं आध्यात्मिक नेता थे। राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था। वह एक ऐसे नेता थे जो भारत की स्वतंत्रता को अहिंसा से दिलाना चाहते थे। उनकी माता का नाम पुतलीबाई गाँधी था तथा वह परनामी वैश्य समुदाय की थीं। पुतलीबाई करमचन्द की चौथी पत्नी थी। उनकी पहली तीन पत्नियाँ प्रसव के समय मर गयीं थीं। लोग उन्हें प्‍यार से ‘बापू’ भी कहते है।

महात्मा गांधी का जन्म

मोहनदास करमचंद गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को पोरबंदर के वैश्य वर्ण (जिसे सुदामापुरी भी कहा जाता है) के एक गुजराती मोध बनिया परिवार में हुआ था, जो काठियावाड़ प्रायद्वीप के एक तटीय शहर और फिर काठियावाड़ एजेंसी में पोरबंदर की छोटी रियासत का हिस्सा था। उनके पिता, करमचंद उत्तमचंद गांधी (1822-1885), पोरबंदर राज्य के दीवान (मुख्यमंत्री) के रूप में सेवा करते थे। गांधी जी के परिवार की धार्मिक पृष्ठभूमि उदार थी। गांधी के पिता करमचंद हिंदू थे और उनकी मां पुतलीबाई एक प्रणामी वैष्णव हिंदू परिवार से थीं। गांधी के पिता वैश्य के वर्ण में मोद बनिया जाति के थे। उनकी माँ मध्ययुगीन कृष्ण भक्ति-आधारित प्रणामी परंपरा से आई थीं।

करमचंद और पुतलीबाई के आगामी दशक में तीन बच्चे थे: एक पुत्र, लक्ष्मीदास (1860–1414); एक बेटी, रोलिताबेन (1862-1960); और एक और बेटा, करंददास (1866-1913)।

महात्मा गांधी का निधन

30 जनवरी 1948 को शाम 5:17 बजे, गांधी बिरला हाउस (अब गांधी स्मृति) के बगीचे में अपनी दादी के साथ थे, एक प्रार्थना सभा को संबोधित करने के रास्ते में, जब एक हिंदू राष्ट्रवादी नाथूराम गोडसे ने उनके सीने में पिस्टल से तीन गोलियां दागीं और तुरंत उसी समय गांधी की मृत्यु हो गई।

चरमपंथी हिंदू महासभा के लिंक वाले हिंदू राष्ट्रवादी गोडसे ने बचने की कोई कोशिश नहीं की; कई अन्य षड्यंत्रकारियों को भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया गया। उन्हें दिल्ली के लाल किले में अदालत में पेश किया गया। अपने परीक्षण में, गोडसे ने आरोपों से इनकार नहीं किया और न ही कोई पश्चाताप व्यक्त किया। क्लाड मार्कोविट्स के अनुसार, एक फ्रांसीसी इतिहासकार ने औपनिवेशिक भारत के अपने अध्ययनों के लिए विख्यात, गोडसे ने कहा कि उन्होंने गांधी की हत्या मुसलमानों के प्रति उनकी शालीनता के कारण की, जो गांधी को पाकिस्तान और भारत में उपमहाद्वीप के विभाजन के दौरान हिंसा और पीड़ाओं के उन्माद के लिए जिम्मेदार ठहराते थे। गोडसे ने गांधी पर विषयवाद और अभिनय का आरोप लगाया जैसे कि उनका केवल सत्य का एकाधिकार था। गोडसे को दोषी पाया गया और 1949 में उसे मार दिया गया।

महात्मा गांधी की शिक्षा

गांधी वर्ष 1883 में साढे 13 साल के थे तब उनका विवाह उनसे एक साल बड़ी कस्तूर बाई मकनजी से कर दिया गया। उस समय कस्तूर बाई की उम्र 14 वर्ष थी। पत्नी का पहला नाम छोटा करके कस्तूरबा कर दिया गया और उसे लोग प्यार से बा कहते थे। यह विवाह उनके माता पिता द्वारा तय किया गया यह एक व्यवस्थित बाल विवाह था, जो उस समय ज़्यादातर भारत के सभी क्षेत्रों में प्रचलित था। लेकिन उस क्षेत्र में यही रीति थी कि किशोर दुल्हन को अपने माता पिता के घर और अपने पति से अलग अधिक समय तक रहना पड़ता था। 11885 में जब गान्धी जी 15 वर्ष के थे तब इनकी पहली सन्तान ने जन्म लिया। लेकिन वह केवल कुछ दिन ही जीवित रही। और इसी साल उनके पिता करमचन्द गांधी का भी देहांत हो गया। मोहनदास और कस्तूरबा के चार सन्तान हुईं जो सभी पुत्र थे। हरीलाल गान्धी 1888 में, मणिलाल गान्धी 1892 में, रामदास गान्धी 1897 में और देवदास गांधी 1900 में जन्मे।

पोरबंदर से उन्होंने मिडिल और राजकोट से हाई स्कूल किया। दोनों परीक्षाओं में शैक्षणिक स्तर वह एक औसत छात्र रहे। मैट्रिक के बाद की परीक्षा उन्होंने भावनगर के शामलदास कॉलेज से कुछ परेशानी के साथ उत्तीर्ण की। जब तक वे वहाँ रहे अप्रसन्न ही रहे क्योंकि उनका परिवार उन्हें बैरिस्टर बनाना चाहता था। अपने 19वें जन्मदिन से लगभग एक महीने पहले ही 4 सितम्बर 1888 को गांधी यूनिवर्सिटी कॉलेज लन्दन में कानून की पढाई करने और बैरिस्टर बनने के लिये इंग्लैंड चले गये। और वर्ष 1915 में दक्षिण अफ्रीका से भारत में रहने के लिए लौट आए।

भारत के अन्य प्रसिद्ध वकील

व्यक्तिउपलब्धि
विनोबा भावे की जीवनीरेमन मैगसेसे पुरस्कार प्राप्त करने वाले प्रथम भारतीय
वायलेट अल्वा की जीवनीराज्यसभा की प्रथम महिला उपाध्यक्ष
लाल मोहन घोष की जीवनीब्रिटिश संसद हेतु चुनाव लड़ने वाले प्रथम भारतीय पुरुष
अरुण जेटली की जीवनीभारत के 20वें वित्त मंत्री
हरिलाल जेकिसुनदास कनिया की जीवनीसर्वोच्च न्यायालय के प्रथम मुख्य न्यायाधीश
जगदीश सिंह खेहर की जीवनीभारत के पहले सिख मुख्य न्यायाधीश
नीरू चड्ढा की जीवनी'इंटरनेशनल ट्रिब्यूनल फॉर द लॉ ऑफ द सी' की न्यायाधीश बनने वाली पहली भारतीय

नीचे दिए गए प्रश्न और उत्तर प्रतियोगी परीक्षाओं को ध्यान में रख कर बनाए गए हैं। यह भाग हमें सुझाव देता है कि सरकारी नौकरी की परीक्षाओं में किस प्रकार के प्रश्न पूछे जा सकते हैं। यह प्रश्नोत्तरी एसएससी (SSC), यूपीएससी (UPSC), रेलवे (Railway), बैंकिंग (Banking) तथा अन्य परीक्षाओं में भी लाभदायक है।

महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर (FAQs):

प्रश्न: गाँधी जी के जन्मदिन 02 अक्टूबर को किस दिवस के नाम से घोषित किया गया?
उत्तर: विश्व अहिंसा दिवस
प्रश्न: गाँधी जी के दक्षिण अफ्रीका में बहुत सफल वकील बनने के बाद उनकी दक्षिण अफ्रीका में सालाना आय कितनी हो गयी थी?
उत्तर: 15000 डॉलर
प्रश्न: महात्मा गाँधी को "राष्ट्रपिता" की उपाधि किसने दी थी?
उत्तर: सुभाषचन्द्र बोस
प्रश्न: गाँधी ने 'भारत छोड़ो आंदोलन' की शुरुआत कब की थी?
उत्तर: 1942
प्रश्न: ब्रिटिश सरकार द्वारा भारतीयों पर लगाये गये नमक कर के विरोध में महात्मा गाँधी ने कब नमक सत्याग्रह की शुरुआत कब की थी?
उत्तर: 1930

Previous « Next »

❇ प्रसिद्ध व्यक्ति से संबंधित विषय

भीमराव अम्बेडकर का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी नजमा हेपतुल्ला का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी मंगल पांडे का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी मार्गरेट थैचर का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी पण्डित रवि शंकर का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी जयंती पटनायक का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी डिक्की डोल्मा का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी सागरमल गोपा का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी हंसा मेहता का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी