स्वाज़ीलैण्ड देश का इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था तथा महत्वपूर्ण घटनाएं

✅ Published on August 15th, 2018 in अफ्रीका महाद्वीप, देशों की जानकारी

विश्व के भूगोल में स्वाज़ीलैण्ड देश का एक अलग ही स्थान है| इस देश में कई ऐसी बातें है जो इस देश को अन्य देशों से अलग करती है जैसे की भाषा, रहन सहन, वेश-भूषा, संस्कृति, धर्म, व्यवसाय| आइये जानते है स्वाज़ीलैण्ड (Swaziland) देश से जुड़े कुछ ऐसे अनोखे तथ्य तथा इतिहास से जुड़ी महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में, जिन्हें जानकर आपका ज्ञान बढ़ेगा|

स्वाज़ीलैण्ड देश की संक्षिप्त जानकारी

देश का नामस्वाज़ीलैण्ड
देश की राजधानीमैबाबाने
देश की मुद्रालीलांगिनी
महाद्वीप का नामAfrica
समूह का नामAfrican Union
देश का गठनSeptember 6, 1968

Read Also: देश का नाम, उनकी राजधानी तथा मुद्रा की सूची

इस साम्राज्य की स्थापना ग्वाने तृतीय के नेतृत्व में अट्ठारहवीं शताब्दी के मध्य में की; वर्तमान सीमाओं का निर्धारण वर्ष 1881 में किया गया। 1903 से 1967 तक स्वाज़ीलैण्ड एक ब्रितानी संरक्षित राज्य था। 6 सितम्बर 1968 को इस देश ने पुनः स्वतंत्रता प्राप्त की। स्वाज़ीलैण्ड एक पूर्ण राज-तंत्र है, जिसके वर्तमान शासक राजा म्स्वाति तृतीय हैं। वे राष्ट्राध्यक्ष भी हैं, तथा देश के प्रधानमन्त्री सहित संसद के दोनों सदनों के कई प्रतिनिधियों की नियुक्ति भी करते हैं। संसद के निचले सदन में बहुमत निर्धारित करने के लिए हर 5 वर्षों में चुनाव आयोजित होते हैं। देश का वर्तमान संविधान 2005 में अपनाया गया।
स्वाज़ीलैण्ड, आधिकारिक नाम किंगडम ऑफ़ स्वाज़ीलैण्ड, दक्षिणी अफ्रीका में स्थित एक सम्प्रभु देश है। पूर्व की ओर मोजाम्बिक, व उत्तर, पश्चिम तथा दक्षिण की ओर दक्षिण अफ्रीका इस स्थल-रुद्ध देश के पड़ोसी हैं।स्वाज़ीलैण्ड अफ्रीका के सबसे छोटे देशों में से एक है इसकी अधिकतम लम्बाई (उत्तर से दक्षिण) 200 कि. मी. व अधिकतम चौड़ाई (पूर्व से पश्चिम) 130 कि. मी. है। छोटे आकार के बावजूद इस देश की जलवायु व स्थलाकृति विविध है, कहीं शीतल व पर्वतमय पठार, तो कहीं उष्ण व शुष्क मैदान | जनसंख्या मुख्यतः नृजातीय स्वाज़ियों की है
स्वाज़ीलैण्ड एक लघु अर्थव्यवस्था का विकासशील देश है। प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद कम होने के कारण, स्वाज़ीलैण्ड को अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष द्वारा निम्नतर-मध्यम आय वाले देश के रूप में वर्गीकृत किया गया है। इस देश का मुख्य स्थानीय व्यापारिक साझेदार दक्षिण अफ्रीका है। स्वाज़ीलैण्ड की मुद्रा, लीलांगिनी, दक्षिण अफ्रीका की मुद्रा रैंड के अनुसार आंकी जाती है। इसके प्रमुख ग़ैर-अफ़्रीकी व्यापारिक साझेदार संयुक्त राज्य अमेरिका एवं यूरोपीय संघ हैं। देश के रोज़गार का अधिकांश भाग कृषि एवं विनिर्माण के क्षेत्रों से आता है। स्वाज़ीलैण्ड दक्षिण अफ्रीकी विकास समुदाय, अफ्रीकी संघ तथा राष्ट्रमण्डल देशों का सदस्य है।
स्वाजीलैंड की आधिकारिक भाषाएं अंग्रेजी और स्वाज़ी है।
  • स्वाज़ीलैण्ड आधिकारिक नाम किंगडम ऑफ़ स्वाज़ीलैण्ड (Kingdom of Swaziland) जो दक्षिणी अफ्रीका में स्थित एक सम्प्रभु राष्ट्र है।
  • स्वाज़ीलैण्ड की सीमाएं उत्तर, पश्चिम तथा दक्षिण की ओर दक्षिण अफ्रीका से और पूर्व की ओर मोजाम्बिक से लगती है।
  • स्वाजीलैंड ने 6 सितंबर 1968 को यूनाइटेड किंगडम (UK) से अपनी आजादी हासिल की थी।
  • स्वाज़ीलैण्ड में पूर्ण राज-तंत्र है, जिसके वर्तमान शासक राजा म्स्वाति तृतीय हैं जिनकी 14 पत्नियां हैं।
  • स्वाज़ीलैण्ड का कुल क्षेत्रफल 17,364 वर्ग कि.मी. (6,704 वर्ग मील) है।
  • विश्व बैंक के अनुसार 2016 में स्वाज़ीलैण्ड की कुल जनसंख्या 1.343 मिलियन थी।
  • स्वाजीलैंड की आधिकारिक भाषाएं अंग्रेजी और स्वाज़ी है।
  • स्वाजीलैंड की मुद्रा का नाम लीलांगिनी है।
  • स्वाजीलैंड की वर्तमान रानी मां का नाम न्त्फोम्बी त्फ्वाला है जो म्स्वाति तृतीय की माता है।
  • स्वाजीलैंड के राजा मस्वाती द्वितीय (1840-1868) को सबसे बड़ा लड़का राजा माना जाता था, जिसने ज़ुलू (Zulu) जनजाति और सिंहासन के लिए अपने भाइयों से युद्ध किया था "स्वाजी" उनके नाम का अंग्रेजी संस्करण है।
  • स्वाजीलैंड की दो राजधानियां हैं पहली मेबाबेन (Mbabane) है जो इसकी प्रशासनिक राजधानी है और लोबाम्बा (Lobamba) इसकी शाही और विधायी राजधानी हैं।
  • स्वाजीलैंड में एम्लेमबे सबसे ऊंचा पर्वत ह,ै जिसकी 1,862 मीटर (6,109 फीट) है।
  • स्वाजीलैंड के ध्वज में लाल रंग बीति हुए युद्ध का, नीला रंग शांति और स्थिरता का, पीला रंग संसाधनों का और ध्वज केंद्र में बना नगुनी शील्ड और दो भाले दुश्मनों से सुरक्षा का प्रतीक हैं
Lobamba, Mbabane, Siteki, Piggs Peak, Golela, Hlatikulu, Manzini, Nhlangano,
Mozambique [L] , South Africa [L] ,
अंतरराष्ट्रीय सीमा की परिभाषा: L = Land Border (भूमि सीमा)| M = Maritime Border (समुद्री सीमा)

📊 This topic has been read 72 times.

« Previous
Next »