अल्जीरिया देश का इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था तथा महत्वपूर्ण घटनाएं

विश्व के भूगोल में अल्जीरिया देश का एक अलग ही स्थान है| इस देश में कई ऐसी बातें है जो इस देश को अन्य देशों से अलग करती है जैसे की भाषा, रहन सहन, वेश-भूषा, संस्कृति, धर्म, व्यवसाय| आइये जानते है अल्जीरिया (Algeria) देश से जुड़े कुछ ऐसे अनोखे तथ्य तथा इतिहास से जुड़ी महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में, जिन्हें जानकर आपका ज्ञान बढ़ेगा|

अल्जीरिया देश की संक्षिप्त जानकारी

देश का नामअल्जीरिया
देश की राजधानीअल्जीयर्स
देश की मुद्राअल्जीरियाई दिनार
महाद्वीप का नामAfrica
समूह का नामAfrican Union, Arab League, OPEC
देश का गठनJuly 5, 1962

Read Also: देश का नाम, उनकी राजधानी तथा मुद्रा की सूची

पुराने समय में अल्जीरिया को सल्तनत नोमेडिया कहा जाता था। उसके लोग नोमेडियन कहते थे। इस साम्राज्य के संबंध उस समय के प्राचीन यूनान और रोमन राष्ट्रों के साथ थे। ईसा पूर्व चौथी शताब्दी तक, अल्जीरिया में बेरबर्स ने कार्थाजियन सेना के एकल सबसे बड़े तत्व का गठन किया। स्थानीय लोगों द्वारा नगण्य प्रतिरोध के बाद, उम्मयद खलीफा के मुस्लिम अरबों ने 8 वीं शताब्दी की शुरुआत में अल्जीरिया पर विजय प्राप्त की। 1962 और 1964 के बीच अल्जीरिया से भागने वाले यूरोपीय चितकबरे-कुलियों की संख्या 900,000 से अधिक थी। 1962 के ओरान नरसंहार के बाद मुख्य भूमि फ्रांस के लिए पलायन तेज हो गया, जिसमें सैकड़ों आतंकवादी शहर के यूरोपीय हिस्सों में प्रवेश कर गए
2011 में सूडान के टूटने के बाद से, अल्जीरिया अफ्रीका और भूमध्य बेसिन का सबसे बड़ा देश रहा है। इसके दक्षिणी हिस्से में सहारा का एक महत्वपूर्ण हिस्सा शामिल है। उच्चतम बिंदु माउंट ताहत (3,003 मीटर या 9,852 फीट) है।
अल्जीरिया को विश्व बैंक द्वारा एक उच्च मध्यम आय वाले देश के रूप में वर्गीकृत किया गया है। अल्जीरिया की मुद्रा दीनार (DZD) है। देश की समाजवादी स्वतंत्रता के बाद देश में अर्थव्यवस्था के विकास मॉडल जारी है। हाल के वर्षों में, अल्जीरियाई सरकार ने राज्य के स्वामित्व वाले उद्योगों के निजीकरण को रोक दिया है और अपनी अर्थव्यवस्था में आयात और विदेशी भागीदारी पर प्रतिबंध लगाया है। ये प्रतिबंध अभी फिर से हटाए जाने लगे हैं, हालांकि अल्जीरिया की धीरे-धीरे फैलती अर्थव्यवस्था के बारे में सवाल बने हुए हैं।
आधुनिक मानक अरबी और बर्बर आधिकारिक भाषाएं हैं। अल्जीरियाई अरबी (दारजा) बहुसंख्यक आबादी द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली भाषा है। बोलचाल के अल्जीरियाई अरबी फ्रेंच और बर्बर प्राचीलित है। 8 मई 2002 के संवैधानिक संशोधन द्वारा बर्बर को एक राष्ट्रीय भाषा के रूप में मान्यता दी गई है। फरवरी 2016 में, अल्जीरियाई संविधान ने एक प्रस्ताव पारित किया, जो अरबी के साथ-साथ बर्बर को एक आधिकारिक भाषा बन गई है।
  • उत्तरी अफ्रीका में स्थित अल्जीरिया एक मुस्लिम देश है। अल्जीरिया विश्व का दसवाँ सबसे बड़ा देश और अफ्रीका का दूसरा सबसे बड़ा देश है।
  • अल्जीरिया का क्षेत्रफल 23,81,741 वर्ग किलोमीटर (919 595 वर्ग मीटर) है। अल्जीरिया की राजधानी और सबसे बड़ा शहर अल्जीयर्स है।
  • अल्जीरिया की सीमाएँ उत्तर-पूर्व में ट्यूनीशिया, पूर्व में लीबिया, पश्चिम में मोरक्को, दक्षिण-पश्चिम में पश्चिमी सहारा, मारिटेनिया और माली, दक्षिण-पूर्व में नाइजर और उत्तर में भू-मध्य सागर से लगती हैं।
  • अल्जीरिया का प्राचीन नाम सल्तनत नोमेडिया था। उसके लोग नोमेडियन कहलाते थे।
  • अल्जीरिया की स्वतंत्रता का युद्ध 1954 से 1962 के मध्य हुआ था। फ्रांस के साथ हुए इस विनाशकारी युद्ध में लगभग 1 मिलियन अल्गेरियन लोगो की मृत्यु हुई थी, अंततः 1962 में अल्जीरिया ने फ्रांस से आजादी प्राप्त की।
  • अल्जीरिया की न्याय व्यवस्था फ्रेंच और इस्लामिक कानून से प्रेरित होकर बनाई गयी थी।
  • अल्जीरिया की आधिकारिक (मुख्य) भाषा अरबी है। परन्तु यहाँ के लोग अरबिक, फ्रेंच और बर्बर भाषा का उपयोग भी करते है।
  • अल्जीरिया की राष्ट्रीय तेल-कंपनी का नाम सोनातराच है, यह अफ्रीका की सबसे बड़ी तेल कंपनी है।
  • अल्जीरिया का राष्ट्रीय भोजन कूस्कूस (Couscous) है जो पूरे अफ्रीका में विख्यात है।
  • अल्जीरिया का राष्ट्रीय दिवस 1 नवम्बर को मनाया जाता है तथा यह क्रांति दिवस के नाम से भी अल्जीरिया में विख्यात है।
  • पूरे अफ्रीका महाद्वीप में अल्जीरिया ही कृषि प्रधान उत्पादों को विश्व में निर्यात करता है।
  • अल्जीरिया विश्व में प्रोपेन गैस का सबसे बड़ा निर्यातक देश है।
  • अल्जीरिया की मुद्रा का नाम अल्जीरियाई दिनार है।
  • 12 जून 1830 - फ्रांस ने अल्जीरिया के उपनिवेशीकरण की प्रक्रिया शुरु की थी।
  • 08 मई 1945 - द्वितीय विश्व युद्ध के अंत का जश्न मनाने के लिए एक परेड एक दंगे में बदल गई, जिसके बाद फ्रेंच अल्जीरिया के सेटीफ और उसके आसपास बड़े पैमाने पर गड़बड़ी और हत्याएं हुईं।
  • 03 अगस्त 1948 - यूनाइटेडस्टेट्स हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स की हाउस अन-अमेरिकन एक्टिविटीज कमेटी से पहले, पूर्व जासूस ने सरकार के मुखबिर बने। चिट्ठर्स ने अमेरिकी विदेश विभाग के अधिकारी अल्जीरिया हिस पर कम्युनिस्ट और सोवियत जासूस का आरोप लगाया।
  • 09 सितम्बर 1954 - अफ्रीकी देश अल्जीरिया के आरलिंसविले क्षेत्र में भूकंप से 1400 लोगों की मौत हुई।
  • 10 सितम्बर 1954 - अफ्रीकी देश अल्जीरिया के दक्षिण पश्चिमी क्षेत्र ओरालियान वेल में भूकंप से 1400 लोगों की मौत हुई।
  • 01 नवम्बर 1954 - फ़्रंट डे लिबेरेशन नेशनले ने फ्रांसीसी शासन के खिलाफ अल्जीरियाई युद्ध की शुरुआत की।
  • 08 जनवरी 1961 - अल्जीरिया की स्वाधीनता को लेकर फ्रांस में जनमत संग्रह कराया गया। जिसमें अल्जीरिया में पक्ष में केवल 69 प्रतिशत मतदान हुआ।
  • 23 अप्रैल 1961 - अल्जीरियाई युद्ध के बीच में, फ्रांसीसी राष्ट्रपति चार्ल्स डीगॉले ने एक सैन्य भाषण दिया, जो सैन्य कर्मियों और स्थानीय लोगों को उनके खिलाफ तख्तापलट की कोशिश का विरोध करने के लिए बुला रहा था।
  • 05 जुलाई 1962 - अल्जीरिया के ओरान में हुए नरसंहार में 96 लोगों की मौत हुई।
  • 30 जून 1962 - फ्रांसीसी विदेशी सेना के अंतिम सैनिक ने अल्जीरिया छोड़ा।
Italy [M] , Libya [L] , Mali [LM] , Mauritania [L] , Morocco [LM] , Niger [L] , Spain [M] , Tunisia [LM] ,
अंतरराष्ट्रीय सीमा की परिभाषा: L = Land Border (भूमि सीमा)| M = Maritime Border (समुद्री सीमा)

📅 Last update : 2021-01-10 10:08:06