बेलारूस देश का इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था तथा महत्वपूर्ण घटनाएं

विश्व के भूगोल में बेलारूस देश का एक अलग ही स्थान है| इस देश में कई ऐसी बातें है जो इस देश को अन्य देशों से अलग करती है जैसे की भाषा, रहन सहन, वेश-भूषा, संस्कृति, धर्म, व्यवसाय| आइये जानते है बेलारूस(Belarus) देश से जुड़े कुछ ऐसे अनोखे तथ्य तथा इतिहास से जुड़ी महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में, जिन्हें जानकर आपका ज्ञान बढ़ेगा|

बेलारूस देश की संक्षिप्त जानकारी

देश का नामबेलारूस
देश की राजधानीमिन्स्क
देश की मुद्राबेलारूसी रुबल
महाद्वीप का नामEurope

Read Also: देश का नाम, उनकी राजधानी तथा मुद्रा की सूची

बेलारूस देश का इतिहास

वर्तमान में जो क्षेत्र बेलारूस के नाम से जाना जाता है, तीसरी सदी में बाल्टिक जनजातियों द्वारा बसा हुआ था और पाँचवीं सदी के आसपास यह इलाका स्लाव लोगों द्वारा हस्तगत कर लिया गया। यह हस्तान्तरण कुछ हद तक बाल्ट लोगों में सैन्य समन्वय के अभाव के कारण हुआ लेकिन बाल्ट और स्लाविक संस्कृतियों के घुलमिल जाने की प्रक्रिया शांतिपूर्ण रही। आधुनिक समय के बेलारूस के नाम से जाना जाने वाला इलाका, नवीं सदी ईसवी में कीवयाई रूस का हिस्सा बना जो एक बड़े आकार का पूर्वी स्लाव राज्य था। प्रथम यारस्लाव के निधन के बाद यह साम्राज्य कई हिस्सों में टूट गया। मार्च 1990 में, सोवियत संघ की सभी इकाइयों के सर्वोच्च विधायी निकाय, सुप्रीम सोवियत, के चुनाव संपन्न हुए। हालाँकि इन चुनावों में बेलारूसी ऍसऍसआर की स्वतन्त्रता का समर्थक दल, बेलारूसी पॉपुलर फ्रंट मात्र 10% सीटें ही जीत पाया, जनता अपने प्रतिनिधियों के चयन से सन्तुष्ट थी। बेलारूस ने 22 जुलाई 1990 को अपनी आज़ादी की घोषणा एक घोषणापत्र द्वारा बेलारूसी सोवियत सोशलिस्ट रिपब्लिक के रूप में की।

बेलारूस देश का भूगोल

बेलारूस की जलवायु की विशेषता गर्मियों में हलकी ठंड और सर्द जाड़े की ऋतु है। जनवरी का न्यूनतम तापमान दक्षिणी-पश्चिमी हिस्सों में −4 °से. (ब्रेस्त) और उत्तरी-पूर्वी भागों में −8 °से. (वितेब्स्क) तक गिर जाता है जबकि गर्मियों में 18 °से. के औसत तापमान के साथ हलकी ठंड वाला सुहाना मौसम रहता है। यहाँ की औसत वार्षिक वर्षा 550 से 700 मि॰मी॰ (21.7 से 27.6 इंच) है। बेलारूस की जलवायु, महाद्वीपीय और महासागरीय जलवायु के बीच संक्रमण क्षेत्र की जलवायु है।

बेलारूस देश की अर्थव्यवस्था

1991 में सोवियत संघ के विघटन के समय तक, औद्योगिक रूप से दुनिया के सर्वाधिक विकसित राज्यों में से एक था, सकल घरेलू उत्पाद के प्रतिशत के स्तर पर भी और सीआईऍस सदस्यों में सबसे धनी राज्य भी था। वर्ष 2015 में, 39.3% बेलारूसी लोग राज्य-स्वामित्व वाली कंपनियों में सेवारत थे, 57.2% लोग निजी कंपनियों में (जिनमें 21.1% साझेदारी सरकार की थी) और 3.5% लोग विदेशी कंपनियों में सेवारत थे। यह देश विविध प्रकार के आयातों के लिए रूस पर निर्भर है, जिनमें पेट्रोलियम भी शामिल है।

बेलारूस देश की भाषा

बेलारूस की रूसी और बेलारूसी दो आधिकारिक भाषायें हैं रूसी यहाँ की मुख्य भाषा है और यहाँ की लगभग 72% जनसंख्या ये ही भाषा बोलती है। आधिकारिक रूप से बेलारूसी यहाँ की प्रथम भाषा है जो 11.9% लोगों द्वारा बोली जाती है। अल्पसंख्यक लोग भी पोलिश, यूक्रेनी और पूर्वी यद्दिश बोलते हैं।

बेलारूस देश से जुड़े रोचक तथ्य और अनोखी जानकारियाँ

  • बेलारूस यूरोप के पूर्वी भाग में स्थित का स्थल-रुद्ध (लैंड लॉक्ड) देश है, जिसे आधिकारिक तौर पर रिपब्लिक ऑफ़ बेलारूस कहा जाता है।
  • बेलारूस की सीमाएं उत्तर-पूर्व में रूस से, दक्षिण में यूक्रेन से, पश्चिम में पोलैण्ड और उत्तर-पश्चिम में लिथुआनिया एवं लातविया से लगती है।
  • बेलारूस ने 27 जुलाई 1990 में सोवियत संघ से स्वतंत्रता हासिल की थी।
  • इसकी राजधानी और सर्वाधिक जनसंख्या वाला नगर मिन्स्क है।
  • बेलारूस में संसदीय प्रणाली के साथ संवैधानिक राजतंत्र की व्यवस्था भी है।
  • बेलारूस ने 1752 में संयुक्त अरब अमीरात से स्वतंत्रता हासिल की थी।
  • बेलारूस का कुल क्षेत्रफल 207595 वर्ग किलोमीटर (80155 वर्ग मील) है।
  • बेलारूस का लगभग 40% भू-भाग वनों से घिरा हुआ है।
  • बेलारूस की आधिकारिक भाषा रूसी और बेलारूसी है।
  • बेलारूस की मुद्रा का नाम बेलारूसी रुबल है।
  • विश्व बैंक के अनुसार 2016 में बेलारूस की कुल जनसंख्या 95.1 लाख थी।
  • बेलारूस का सबसे ऊंचा पर्वत माउंट डेजरज़िंस्काया ( Mount Dzyarzhynskaya)है, जिसकी ऊंचाई 346 मीटर है।
  • बेलारूस का राष्ट्रीय पशु यूरोपीय बाइसन है, यह यूरोप का सबसे भारी जीवित वन्य भूमि स्तनपायी है।
  • बेलारूस की साक्षरता दर 99.6% है, जिससे यह दुनिया के सबसे अधिक साक्षर देशों में से एक है।
  • बेलारूस एकमात्र यूरोपीय देश है, जिसकी अभी भी मृत्युदंड दिया जाता है।

बेलारूस देश की ऐतिहासिक महत्वपूर्ण घटनाएं

  • 9 अक्टूबर 1708 - महान उत्तरी युद्ध-रूस ने वर्तमान बेलारूस में रूसी-पोलिश सीमा पर लेस्नाया की लड़ाई में स्वीडन को हराया।
  • 14 फरवरी 1919 - वर्तमान समय के बिरोजा, बेलारूस के पास पोलिश-सोवियत वार्टूक स्थान का पहला गंभीर सशस्त्र संघर्ष।
  • 30 जुलाई 1942 - जर्मन की सेना ने बेलारूस के मिंस्क में 25000 यहूदियों की हत्या की।
  • 29 अक्टूबर 1942 - नाजियों ने बेलारूस के पिनस्क में 16 हजार यहूदियों की हत्या की।
  • 22 मार्च 1943 - द्वितीय विश्व युद्ध- खेटिन इनबेलरस के गाँव की पूरी आबादी को नाजी जर्मन सेनाओं ने जीवित कर दिया था, जिनमें से उतरी यूक्रेनी और बेलारूसी सहयोगियों की भागीदारी थी।
  • 29 अक्टूबर 1972 - नाजियों ने बेलारूस के पिनस्क में 16 हजार यहूदियों की हत्या की।
  • 8 दिसम्बर 1991 - बेलारूस, रूस और यूक्रेन के नेताओं ने बेलवेजहाकार्ड्स पर हस्ताक्षर किए, सोवियत संघ को भंग करने और स्वतंत्र राज्यों के कॉमनवेल्थ की स्थापना के लिए सहमति व्यक्त की।
  • 08 अप्रैल 2006 - ल्यूकाशेंको ने तीसरी बार बेलारूस के राष्ट्रपति पद की शपथ ली।
  • 13 अक्टूबर 2008 - बेलारूसी राष्ट्रपति अलेक्जेंडर लुकाशेंको और 6 अन्य प्रशासकों पर प्रतिबंध उस देश में लोकतांत्रिक विकास को प्रोत्साहित करने के प्रयास में यूरोपीय संघ द्वारा अस्थायी रूप से हटा लिया गया है।
  • 11 अप्रैल 2011 - बेलारूस के मिन्स्क मेट्रो बम विस्फोट में कम से कम 15 मारे गए और 200 लोग घायल हुए।

बेलारूस के आबादी वाले शहरों की सूची

Polatsk, Homyel, Mahilyow, Vitsyebsk, Hrodna, Brest, Babruysk, Minsk, Baranavichy, Barysaw, Orsha, Pinsk, Mazyr, Maladzyechna, Lida,

बेलारूस के 5 पड़ोसी देश

Latvia [L] , Lithuania [L] , Poland [L] , Russia [L] , Ukraine [L] ,
अंतरराष्ट्रीय सीमा की परिभाषा: L = Land Border (भूमि सीमा)| M = Maritime Border (समुद्री सीमा)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *