ईरान देश का इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था तथा महत्वपूर्ण घटनाएं

✅ Published on August 23rd, 2020 in एशिया महाद्वीप, देशों की जानकारी

विश्व के भूगोल में ईरान देश का एक अलग ही स्थान है| इस देश में कई ऐसी बातें है जो इस देश को अन्य देशों से अलग करती है जैसे की भाषा, रहन सहन, वेश-भूषा, संस्कृति, धर्म, व्यवसाय| आइये जानते है ईरान(Iran) देश से जुड़े कुछ ऐसे अनोखे तथ्य तथा इतिहास से जुड़ी महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में, जिन्हें जानकर आपका ज्ञान बढ़ेगा|

ईरान देश की संक्षिप्त जानकारी

देश का नामईरान
देश की राजधानीतेहरान
देश की मुद्राईरानी रियाल
महाद्वीप का नामAsia
देश के राष्ट्रपिता/संस्थापकCyrus the Great

Read Also: देश का नाम, उनकी राजधानी तथा मुद्रा की सूची

ईरान देश का इतिहास

ईरान का प्राचीन नाम फ़ारस था। 550 ईस्वी में कुरोश ने पार्स की सत्ता स्थापित की तो उसके बाद मिस्र से लेकर आधुनिक अफ़गानिस्तान तक और बुखारा से फारस की खाड़ी तक ये साम्राज्य फैल गया। इस साम्राज्य के तहत मिस्री, अरब, यूनानी, आर्य (ईरान), यहूदी तथा अन्य कई नस्ल के लोग थे। ईरान दुनिया की सबसे पुरानी सभ्यताओं में से एक है, जो चौथी सहस्राब्दी ईसा पूर्व में एलामी राज्यों के गठन से शुरू हुई थी। यह पहली बार सातवीं शताब्दी ईसा पूर्व में ईरानी मेड्स द्वारा एकीकृत किया गया था, और छठी शताब्दी ईसा पूर्व में इसकी क्षेत्रीय ऊंचाई तक पहुंच गया, जब साइरस द ग्रेट ने आचमेनिड साम्राज्य की स्थापना की, जो पूर्वी यूरोप से सिंधु नदी तक फैला था, जिससे यह सबसे बड़ा बना। 15 वीं शताब्दी में, देशी सफाविड्स ने एक एकीकृत ईरानी राज्य और राष्ट्रीय पहचान को फिर से स्थापित किया।

18 वीं शताब्दी में नादिर शाह के शासन के तहत, ईरान एक बार फिर एक प्रमुख विश्व शक्ति बन गया, हालांकि 19 वीं शताब्दी तक रूसी साम्राज्य के साथ संघर्षों की एक श्रृंखला ने महत्वपूर्ण क्षेत्रीय नुकसान का कारण बना। 20 वीं सदी की शुरुआत में फारसी संवैधानिक क्रांति देखी गई। पश्चिमी कंपनियों से अपने जीवाश्म ईंधन की आपूर्ति का राष्ट्रीयकरण करने के प्रयासों के कारण 1953 में एक एंग्लो-अमेरिकन तख्तापलट हुआ, जिसके परिणामस्वरूप मोहम्मद रजा पहलवी के तहत अधिक निरंकुश शासन आया और पश्चिमी राजनीतिक प्रभाव बढ़ता गया। ईरानी क्रांति के बाद, 1979 में वर्तमान इस्लामिक गणराज्य की स्थापना हुई।

ईरान देश का भूगोल

ईरान को पारंपरिक रूप से मध्यपूर्व का अंग माना जाता है क्योंकि ऐतिहासिक रूप से यह मध्यपूर्व के अन्य देशों से जुड़ा रहा है। यह अरब सागर के उत्तर तथा कैस्पियन सागर के बीच स्थित है और इसका क्षेत्रफल 16,48,000 वर्ग किलोमीटर है जो भारत के कुल क्षेत्रफल का लगभग आधा है। इसकी कुल स्थलसीमा 5440 किलोमीटर है और यह इराक, अर्मेनिया, तुर्की, अज़रबैजान, अफग़ानिस्तान तथा पाकिस्तान के बीच स्थित है। कैस्पियन सागर के इसकी सीमा सगभग 740 किलोमीटर लम्बी है। क्षेत्रफल की दृष्टि से यह विश्व में 18वें नंबर पर आता है। यहाँ का भूतल मुख्यतः पठारी, पहाड़ी और मरुस्थलीय है।

ईरान देश की अर्थव्यवस्था

ईरान की अर्थव्यवस्था केंद्रीय योजना, तेल के राज्य स्वामित्व और अन्य बड़े उद्यमों, ग्राम कृषि, और छोटे पैमाने पर निजी व्यापार और सेवा उपक्रमों का मिश्रण है। 2017 में, जीडीपी $ 427.7 बिलियन (पीपीपी में 1.631 ट्रिलियन डॉलर), या पीपीपी प्रति व्यक्ति 20,000 डॉलर थी। विश्व बैंक द्वारा ईरान को एक ऊपरी-मध्य आय अर्थव्यवस्था के रूप में स्थान दिया गया है। 21 वीं सदी की शुरुआत में, सेवा क्षेत्र ने जीडीपी का सबसे बड़ा प्रतिशत योगदान दिया, उसके बाद उद्योग (खनन और विनिर्माण) और कृषि आदि।

ईरान देश की भाषा

ईरान की बहुसंख्यक आबादी फ़ारसी बोलती है, जो देश की आधिकारिक भाषा भी है। अन्य लोगों में अधिक से अधिक इंडो-यूरोपीय परिवार के भीतर कई ईरानी भाषाओं के बोलने वाले और ईरान में रहने वाली कुछ अन्य जातीय भाषाओं से संबंधित भाषाएं शामिल हैं।

ईरान देश से जुड़े रोचक तथ्य और अनोखी जानकारियाँ

  • ईरान को आधिकारिक तौर पर ईरानी इस्लामिक गणराज्य कहा जाता है जो एशिया के दक्षिण-पश्चिम खंड में स्थित है जिसे 1935 से पहले फारस कहकर संबोधित किया जाता था।
  • ईरान का फारसी में अनुवाद है "आर्यों की जमीन" जो उसका संबंध भारतीय उपमहाद्वीप के साथ परीलक्षित करती है।
  • ईरान की सीमाएं पश्चिम में इराक व तुर्की, उत्तर-पूर्व में तुर्कमेनिस्तान व उत्तर में कैस्पियन सागर और अज़रबैजान, दक्षिण में फारस की खाड़ी और पूर्व में अफ़ग़ानिस्तान तथा पाकिस्तान से लगती है।
  • ईरान का कुल क्षेत्रफल 1,648,195 वर्ग कि.मी. (636,372 वर्ग मील) है।
  • ईरान की आधिकारिक भाषा फ़ारसी है।
  • ईरान की मुद्रा का नाम रियाल है।
  • विश्व बैंक के अनुसार 2016 में ईरान की कुल जनसंख्या 8.03 करोड़ थी।
  • ईरान में अधिकत्तर लोगो का धर्म इस्लाम है जो शिया समुदाय के है। इस्लाम धर्म को राजधर्म भी माना जाता है।
  • ईरान में महत्वपूर्ण जातीयसमूह कुरदीश और ईरानी है।
  • ईरान में इस्लामिक नियमो के अनुसार अस्थाई शादी वैध है जिसे वहाँ मुतः शादी (Mut’ah marriages) व प्लेजर मैरिज कहा जाता है।
  • ईरान का सबसे ऊँचा पर्वत माउंट दमावंद (Mount Damavand) है, जिसकी ऊंचाई 5,610 मीटर है।
  • ईरान की सबसे लंबी नदी करून नदी (Karun River) है, जिसकी लंबाई 950 कि.मी. है जोकि ईरान में नौकायन योग्य एकलौती नदी है।
  • ईरान की सबसे बड़ी झील उर्मिया (Lake Urmia) है जो 5,200 वर्ग कि.मी. में फैली है।
  • ईरान ने 1948 में पहली बार ओलम्पिक खेलो में भाग लिया था और अब तक हर बार ओलम्पिक खेलो में भाग ले रहा है, इसने ओलम्पिक खेलो में अबतक कुल 69 पदक जीते है।
  • ईरान ने आधिकारिक रूप से 29 जुलाई 1980 को अपना राष्ट्रीय ध्वज अपनाया था, जिसमे हरा रंग इस्लाम का, सफेद रंग ईमानदारी एवं शान्ति का, लाल रंग बहादुरी और वीरता का प्रतीक है।

ईरान देश की ऐतिहासिक महत्वपूर्ण घटनाएं

  • 7 मार्च 1010 - फ़ारसी कवि फ़ारसियोई ने अपनी कृति, शाहनाम, ईरान के राष्ट्रीय महाकाव्य और संबंधित समाजों को पूरा किया।
  • 15 दिसम्बर 1256 - वर्तमान ईरान में आलमूत के गढ़ हश्शशीन को हुगुगु खान और मंगोलों ने नष्ट कर दिया और नष्ट कर दिया।
  • 8 मार्च 1736 - अफशरीद वंश के संस्थापक नादेर शाह को ईरान के शाह का ताज पहनाया गया था।
  • 26 मई 1739 - मुगल बादशाह मोहम्मद शाह और ईरान के नादिर शाह के बीच हुई संधि के परिणामस्वरूप अफगानिस्तान, भारत से अलग हुआ।
  • 24 फरवरी 1739 - करनाल की लड़ाई: ईरानी शासक नादिर शाह की सेना ने भारत के मुगल सम्राट मोहम्मद शाह की सेना को हराया।
  • 13 फरवरी 1891 - ईरान में तंबाकू विरोधी अभियान की शुरुआत की गयी।
  • 06 अक्टूबर 1906 - ईरान में मजलिस का पहली बार आयोजन किया गया।
  • 19 जनवरी 1907 - ईरान के विख्यात संगीतकार अमीनुल्ला हुसैन का तुर्कमानिस्तान के एक ईरानी परिवार में जन्म हुआ।
  • 21 फरवरी 1921 - रेजा खान ने तेहरान को ईरान में खुद को सबसे शक्तिशाली बनाने के लिए जब्त कर लिया, जिससे अंततः पहलवान राजवंश की स्थापना हुई।
  • 08 जुलाई 1937 - तुर्की, ईरान, इराक और अफगानिस्तान ने सौदाबाद की संधि पर हस्ताक्षर किए।

ईरान के आबादी वाले शहरों की सूची

Ahvaz, Bam, Qom, Yasuj, Behbehan, Kermanshah, Tehran, Chabahar, Zahedan, Rasht, Kerman, Urmia, Bijar, Hamadan, Arak, Yazd, Qazvin, Bandar-e-Abbas, Khomeini Shahr, Ardabil, Khorramabad, Abadan, Zanjan, Sanandaj, Birjand, Dezful, Gorgan, Sari, Borujerd, Kashan, Mashhad, Zabol, Sabzewar, Neyshabur, Amol, Bojnurd, Khvoy, Varamin, Malayer, Saveh, Sirjan, Bandar-e Bushehr, Isfahan, Mahabad, Gonbad-e Kavus, Kashmar, Masjed Soleyman, Ilam, Maragheh, Quchan, Karaj, Tabriz, Shahrud, Shar e Kord, Marv Dasht, Semnan, Fasa, Shiraz, Qomsheh, Qasr-e Shirin, Torbat-e Jam, Ahar, Sari, Ilam,

ईरान के 13 पड़ोसी देश

Afghanistan [L] , Armenia [L] , Azerbaijan [LM] , Bahrain [M] , Iraq [LM] , Kuwait [M] , Oman [M] , Pakistan [LM] , Qatar [M] , Saudi Arabia [M] , Turkey [L] , Turkmenistan [LM] , United Arab Emirates [M] ,
अंतरराष्ट्रीय सीमा की परिभाषा: L = Land Border (भूमि सीमा)| M = Maritime Border (समुद्री सीमा)

ईरान के प्रसिद्ध व्यक्तियों के नाम की सूची

जन्म वर्षनिधन वर्षनाम/वर्ग/देश
19402016अब्बास कियारोस्तामी / पुरुष / निर्देशक / ईरान
1947शिरीन एबादी / महिला / साहित्यकार / ईरान
Previous « Next »

❇ देशों की जानकारी से संबंधित विषय

लीबिया देश का इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था तथा महत्वपूर्ण घटनाएं सोमालिया देश का इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था तथा महत्वपूर्ण घटनाएं चीन देश का इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था तथा महत्वपूर्ण घटनाएं नेपाल देश का इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था तथा महत्वपूर्ण घटनाएं लिथुआनिया देश का इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था तथा महत्वपूर्ण घटनाएं स्पेन देश का इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था तथा महत्वपूर्ण घटनाएं मेडागास्कर देश का इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था तथा महत्वपूर्ण घटनाएं दक्षिण अफ्रीका देश का इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था तथा महत्वपूर्ण घटनाएं उत्तर कोरिया देश का इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था तथा महत्वपूर्ण घटनाएं तुर्कमेनिस्तान देश का इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था तथा महत्वपूर्ण घटनाएं