कर्नाटक का इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था, राजनीति तथा जिले

✅ Published on October 29th, 2021 in भारत, भारतीय राज्य

इस अध्याय के माध्यम से हम कर्नाटक (Karnataka) की विस्तृत एवं महत्वपूर्ण जानकारी जानेगें, जिसमे राज्य का इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था, शिक्षा, संस्कृति और राज्य में स्थित विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल आदि जैसी महत्वपूर्ण एवं रोचक जानकरियों को जोड़ा गया है। इसके अतिरिक्त कर्नाटक राज्य में हाल ही में हुये विकास व बदलाव को भी विस्तारपूर्वक बताया गया है। यह अध्याय प्रतियोगी परीक्षार्थियों के साथ-साथ पाठकों के लिए भी रोचक तथ्यों से भरपूर है। Karnataka General Knowledge and Recent Developments (Hindi).

कर्नाटक का संक्षिप्त सामान्य ज्ञान

राज्य का नामकर्नाटक (Karnataka)
इकाई स्तरराज्य
राजधानीबेंगलुरु
राज्य का गठन1 नवम्बर 1956
सबसे बड़ा शहरबैंगलोर
कुल क्षेत्रफल1,91,791 वर्ग किमी
जिले31
वर्तमान मुख्यमंत्रीबसवराज बोम्मई
वर्तमान गवर्नर थावरचंद गहलोत
राजकीय पक्षी नीलकंठ
राजकीय फूलकमल
राजकीय जानवरभारतीय हाथी
राजकीय पेड़चन्दन
राजकीय भाषाकन्नड़
लोक नृत्ययक्षगान, हुट्टारी, सुग्गी, कुनीथा, करगा, लाम्बी।

कर्नाटक (Karnataka)

कर्नाटक दक्षिण भारत में स्थित एक राज्य है। कर्नाटक को पहले "स्टेट ऑफ मैसूर" कहा जाता था, सन् 1973 में इसका नाम बदलकर कर्नाटक रखा गया। कर्नाटक की राजधानी बैंगलोर है। जनसंख्या के हिसाब से कर्नाटक भारत का नौंवा सबसे बड़ा राज्य है। कर्नाटक के उत्तर में महाराष्ट्र, उत्तर पश्चिम में गोवा और आंध्र प्रदेश तथा पूर्व में तेलंगाना स्थित है। कर्नाटक के दक्षिण पश्चिम में केरल और दक्षिण पूर्व में तमिलनाडु स्थित है। यह राज्य पश्चिम से अरब सागर और लक्ष्यद्वीप समुद्र से घिरा है।

कर्नाटक राज्य का लगभग 2,000 वर्ष का लिखित इतिहास उपलब्ध है। कर्नाटक पर नंद, मौर्य और सातवाहन नामक राजाओं का शासन रहा। चौथी शताब्दी के मध्य से इसी क्षेत्र के राजवंशों बनवासी के कदंब तथा गंगों का अधिकार रहा। इस क्षेत्र में मिले पाषाण युग के कुल्हाड़ों और बड़े छुरों के अवशेषों से यह साबित होता है कि इस राज्य का इतिहास कितना पुराना है। कर्नाटक में महापाषाण और नवपाषाण संस्कृति के साक्ष्य भी मिले है। हड़प्पा में पाया गया सोना भी इसी राज्य से आयात किया गया था। इन तथ्यों ने विद्वानों और शोधकर्ताओं को आश्वस्त किया कि सिंधु घाटी सभ्यता और प्राचीन कर्नाटक के बीच संबंध थे। स्वतंत्रता मिलने पर 1953 में मैसूर राज्य का निर्माण हुआ, जिसमें कन्नड बहुल क्षेत्रों को साथ लेकर मैसूर राज्य का निर्माण 1956 में किया गया और इसे 1973 में कर्नाटक का नाम दिया गया।
राज्य के तीन प्रमुख भौगोलिक क्षेत्र है इनमें करावली का तटीय इलाका, मालेनाडु के पहाड़ी क्षेत्र जिनमें पश्चिमी घाट शामिल हैं, और बयालुसिमि क्षेत्र जिसमें डेक्कन पठार आता है। राज्य का सबसे उंचा पर्वत मुलयानगरी पहाड़ है जो कि चिक्कमगलुर जिले में स्थित है। इसकी उंचाई 6,329 फीट या 1,929 मीटर है। राज्य का अधिकांश क्षेत्र बयालुसीमी में आता है और इसका उत्तरी क्षेत्र भारत का सबसे बड़ा शुष्क क्षेत्र है। कर्नाटक की महत्त्वपूर्ण नदियों में कावेरी, तुंगभद्रा नदी, कृष्णा नदी, मलयप्रभा नदी और शरावती नदी हैं। भारत में सबसे ऊंचा जल प्रपात जोग प्रपात कर्नाटक में ही स्थित है। कर्नाटक का राजकीय पक्षी 'भरतीय रोलर' है। कर्नाटक का राजकीय पेड 'चन्दन' है। कर्नाटक का राजकीय फूल 'कमल' है। कर्नाटक का राजकीय पशु 'हाथी' है।
राज्य में चार प्रमुख ऋतुएं आती हैं। जनवरी और फ़रवरी में शीत ऋतु, उसके बाद मार्च-मई तक ग्रीष्म ऋतु, जिसके बाद जून से सितंबर तक वर्षा ऋतु और अंततः अक्टूबर से दिसम्बर मानसून काल। भारत में दूसरा सर्वाधिक वार्षिक औसत वर्षा वाला स्थान शिमोगा जिला में स्थित अगुम्बे है।

राज्य में द्विसदनीय संसदीय सरकार है। कर्नाटक विधान सभा में 24 सदस्य हैं, जो पांच साल की अवधि के लिए चुने जाते हैं, विधान परिषद में 75 सदस्यों की एक स्थायी संस्था है और इसकी एक-तिहाई सदस्य (25) हर दो साल में सेवा से सेवानिवृत्त हो जाते हैं।

कर्नाटक के वर्तमान मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई (Basavaraj Bommai) हैं। इन्होंने 28 जुलाई 2021 को कर्नाटक के 23वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की। वह शिगगांव के लिए कर्नाटक की विधायिका में विधान सभा के सदस्य हैं, जहां से वे 2008 से तीन बार चुने गए हैं। वह भारतीय जनता पार्टी के सदस्य हैं। कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री बनने वाले प्रथम व्यक्ति के. सी. रेड्डी थे। उन्होंने 25 अक्टूबर 1947 को राज्य के पहले मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी।

कर्नाटक के वर्तमान राज्यपाल थावरचंद गहलोत है। उन्होंने 07 जुलाई 2021 को कर्नाटक के राज्यपाल के रूप में शपथ ली है।


यहाँ भारत के सार्वजनिक क्षेत्र के अनेक बड़े उद्योग स्थापित किए गए हैं, जैसे हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड, नेशनल एरोस्पेस लैबोरेटरीज़, भारत हैवी एलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड, इंडियन टेलीफोन इंडस्ट्रीज़, भारत अर्थ मूवर्स लिमिटेड एवं हिन्दुस्तान मशीन टूल्स आदि जो बंगलुरु में ही स्थित हैं। भारत के अग्रणी बैंकों में से सात बैंकों, केनरा बैंक, सिंडिकेट बैंक, कार्पोरेशन बैंक, विजया बैंक, कर्नाटक बैंक, वैश्य बैंक और स्टेट बैंक ऑफ मैसूर का उद्गम इसी राज्य से हुआ था।
कर्नाटक की लगभग 56% जनसंख्या कृषि और संबंधित गतिविधियों में संलग्न है। राज्य की कुल भूमि का 64.6%, अर्थात 1.231 करोड़ हेक्टेयर भूमि कृषि कार्य में संलग्न है। यहाँ की प्रमुख खाद्यान्न फसलें चावल और गन्ना है। अन्य फ़सलों में ज्वार, रागी, काजू, इलायची, सुपारी और अंगूर शामिल हैं। कर्नाटक का तिलहन के उत्पादन में पांचवा स्थान है।
कर्नाटक में साक्षरता दर 75.36% है। पुरुषों और महिलाओं की साक्षरता दर क्रमशः 82.47% और 68.08% है। राज्य में हिन्दू आबादी 83% हैै।
कर्नाटक की उपजाऊ भूमि में 78% वैनेडियम अयस्क, 73% लौह अयस्क (मैग्नेटाइट), 42% टंगस्टन अयस्क, 37% अभ्रक, 28% चूना पत्थर, 22% सोना, 20% ग्रेनाइट, 17% ड्यूनाइट और 14% कोरन्डम संसाधन भरपूर मात्रा में उपलब्ध हैं।
सन् 2011 की जनगणना के अनुसार राज्य की जनसंख्या 61,095,297 है। आबादी में पुरुषों और महिलाओं की जनसंख्या क्रमशः 30,966,657 और 30128640 हैै। राज्य में जनसंख्या का घनत्व 319 प्रति वर्ग किमी है। इसके अलावा शहरी क्षेत्र में जनसंख्या का 34% है। इसके अलावा यहां अन्य धर्म मुस्लिम, ईसाई, जैन और बौद्ध हैं।
कर्नाटक की महिलाएं आमतौर पर साड़ी पहनती हैं, जबकि पुरुष आमतौर पर धोती और कुर्ता पहनना पसंद करते हैं। कर्नाटक में पुरुषों की प्रमुख पारंपरिक पोशाक 'पंच' है जो कमर के नीचे पहनी जाती है और ऊपर एक शर्ट होती है। इसे अन्यथा लुंगी, धोती या वेष्टी आदि कहा जाता है।
कर्नाटक की परंपरागत लोक कलाओं में संगीत, नृत्य, नाटक, घुमक्कड़ कथावाचक आदि आते हैं। कर्नाटक की महिलाएं आमतौर पर साड़ी पहनती हैं, जबकि पुरुष आमतौर पर धोती और कुर्ता पहनना पसंद करते हैं। कर्नाटक में पुरुषों की प्रमुख पारंपरिक पोशाक 'पंच' है जो कमर के नीचे पहनी जाती है और ऊपर एक शर्ट होती है। इसे अन्यथा लुंगी, धोती या वेष्टी आदि कहा जाता है।
कर्नाटक की आधिकारिक भाषा कन्नड़ है, राज्य के लगभग 65% लोगों द्वारा कन्नड़ भाषा बोली जाती है। राज्य के तटीय जिलों और दक्षिण कन्नड़ा और उडीपी के कुछ क्षेत्रों में मुख्यतः तुल्लु भाषा बोली जाती हैं। राज्य की अन्य भाषाओं में कोंकणी एवं कोडव टक हैं, यहां की मुस्लिम जनसंख्या द्वारा उर्दु भी बोली जाती है।
बिसे बेले भात, उपमा, मसालेदार मांस (पण्डि (पोर्क) करी, चिकन, मटन), कडुम्बुत्त (चावल से बना), पपुट्ट, थलियापुत्त, मैसूर पाक, इडली और वड़ा उद्दीना, चाउ चाउ बाथ, जोलडा रोटी और अक्की रोटी,बीसी बेले बाथ,उडुपी और सांभर गोज्जू, रागी मुददे और सोपिन्ना सारु, मददुर वडा , डोसा, ऑबबटु आदि शामिल है।
नवंबर में मनाया जाने वाला हम्पी महोत्सव, कर्नाटक में सबसे महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक है जिसे भव्य स्तर पर मनाया जाता है। यह सांस्कृतिक उत्सव हम्पी में आयोजित किया जाता है जो अपने प्राचीन मंदिरों के लिए लोकप्रिय यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल है। इसके अतिरिक्त गणेश चतुर्थी, गोवरी, जलीकट्टू कारगा, पट्टडकल नृत्य महोत्सव, महामाष्टकविश्वासी (श्रावणबेलागोला) और कंबाला कर्नाटक के मुख्य त्यौहारों में शामिल है।
कर्नाटक राज्य में विभिन्न बहुभाषायी और धार्मिक जाति-प्रजातियां बसी हुई हैं। यहाँ पर कन्नड़िगों, तुलुव, कोडव, कोंकणी, सोलिग, येरवा, टोडा और सिद्धि जातियां पाई जाती हैं।

पर्यटन के लिहाज़ से कर्नाटक भारत की एक लोकप्रिय जगह है। राष्ट्रीय स्तर पर संरक्षित स्मारकों के मामले में उत्तर प्रदेश के बाद भारत में कर्नाटक दूसरा स्थान रखता है। कर्नाटक के प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों की सूची नीचे दी गई है:-

  • श्रीरंगपटन
  • मैसूर के महल
  • नगरहोल राष्ट्रीय पार्क (कबीनी)
  • होयसाला स्थापत्य
  • विश्व धरोहर ‘श्रवणबेल गोला, बेलूर, हलेबिड
  • हंपी’, बदामी, पट्टदकल
  • ऐहोल विरुपाक्ष मन्दिर
  • रघुनाथ मन्दिर
  • नरसिंह मंन्दिर
  • सुग्रीव गुफ़ा
  • विट्ठलस्वामी मन्दिर
  • कृष्ण मन्दिर
  • प्रसन्ना विरूपक्ष
  • हज़ार राम मन्दिर
  • कमल महल तथा महानवमी डिब्बा

  • कर्नाटक का संशोधित सकल राज्य घरेलू उत्पाद (GSDP) 2020-21 में 18.03 ट्रिलियन रु था। 2015-16 और 2021-22 के बीच राज्य की GSDP 8.47% की CAGR से बढ़ी। राज्य से माल का निर्यात 2019-20 में 16.64 बिलियन अमेरिकी डॉलर और 2020-21 में 15.14 बिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुंच गया था।
  • कर्नाटक में जीवंत ऑटोमोबाइल, कृषि, एयरोस्पेस, कपड़ा और परिधान, बायोटेक और भारी इंजीनियरिंग उद्योग प्रगति पर हैं। कर्नाटक भारत का IT हब है और दुनिया में चौथा सबसे बड़ा प्रौद्योगिकी क्लस्टर है। अक्टूबर 2020 तक इसके 34 परिचालन SIZs हैं।
  • कर्नाटक विविध वनस्पतियों और जीवों और 320 किमी प्राकृतिक समुद्र तट का दावा करता है, जो इसे एक प्रकृति पर्यटक का स्वर्ग बनाता है। कर्नाटक मार्च 2021, गुजरात और महाराष्ट्र के बाद भारत में तीसरा सबसे अधिक, और भारत के संचयी FDI प्रवाह का 14% हिस्सा है।
  • कर्नाटक औद्योगिक नीति, 2020-25 के तहत निवेश के लिए सरलीकृत प्रक्रियाओं के साथ कर्नाटक व्यवसायों के लिए वित्तीय और नीतिगत प्रोत्साहनों की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करता है।
  • जून 2021 में, कर्नाटक सरकार ने इलेक्ट्रिक मोबिलिटी क्षेत्र को और अधिक प्रोत्साहन देने के लिए नीति में संशोधन किया। संशोधन के अनुसार, भूमि मूल्य पर पूंजीगत व्यय पर 15% सब्सिडी की घोषणा की गई थी (निश्चित मूल्य की संपत्ति 50 एकड़ भूमि की अधिकतम सीमा तक)।
  • कर्नाटक पहला राज्य है जो देश में एयरोस्पेस नीति लेकर आया है। कर्नाटक एयरोस्पेस नीति ने 2013-23 के दौरान इस क्षेत्र में 12.5 बिलियन अमेरिकी डॉलर की निवेश क्षमता की पहचान की है और राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में एयरोस्पेस क्लस्टर विकसित करने की योजना है।


📊 This topic has been read 167 times.

« Previous
Next »