भारत मेँ आयोजित होने वाली प्रमुख प्रतियोगी परीक्षाओं की सूची

General Knowledge: List Of Major Competitive Examinations Of India In Hindi

भारत की प्रमुख प्रतियोगी परीक्षाओं की सूची: (List of Major Competitive Examinations of India in Hindi)

प्रतियोगिता परीक्षा किसे कहते है?

प्रतियोगिता परीक्षा उस परीक्षा को कहते हैं जिसे परिणाम के आधार पर परीक्षार्थियों की प्रावीण्य सूची या मेरिट लिस्ट बनती है। यदि यह परीक्षा n स्थानों को भरने के लिये की गयी है तो प्रावीण्य सूची में सबसे अधिक अंक पाने वाले पहले n अभ्यर्थियों को ‘उतीर्ण’ (पास) माना जाता है।

यहाँ भारत की प्रमुख प्रतियोगी परीक्षाओं की सूची दी गयी है:-

  • सिविल सेवा परीक्षा
  • इंजीनियरी सेवा परीक्षा
  • सीपीएमटी (CPMT)
  • आईआईटी संयुक्त प्रवेश परीक्षा (IIT JEE)
  • अखिल भारतीय इंजिनीयरिंग प्रवेश परीक्षा (AIEEE)
  • सम्मिलित प्रवेश परीक्षा (कॉमन ऐडमिशन टेस्ट / CAT)
  • प्रबन्धन योग्यता परीक्षा (MAT)
  • ओपेनमैट (OpenMAT)
  • सार्वजनिक प्रवेश परीक्षा (कॉमन इंट्रैन्स टेस्ट / CET)
  • इंजीनियरी में स्नातक अभिरुचि परीक्षा या गेट (GATE)
  • राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (NDA)
  • सम्मिलित रक्षा सेवा परीक्षा (CDS)
  • संयुक्त विधि प्रवेश परीक्षा (कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट / CLAT)
  • यूजीसी राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (यूजीसी नेट) (NET)
  • केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा‎ (Central Teacher Eligibility Test / CTET)
  • संयुक्त प्रवेश स्क्रीनिंग परीक्षा (Joint Entrance Screening Test / JEST)

इन्हें भी पढ़े: वर्ष 2017 की आयोजित होने वाली महत्वपूर्ण प्रतियोगिता परीक्षाएँ

1. सिविल सेवा परीक्षा: सिविल सेवा परीक्षा भारत की एक प्रतियोगी परीक्षा है जिसके परिणाम के आधार पर भारत सरकार एवं राज्य सरकार की सिविल सेवाओं के अधिकारी (जैसे जिलाधिकारी) चुने जाते हैं। इस परीक्षा में तीन स्तर होते हैं: प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और मुलाकात। प्रारंभिक परीक्षा में दो प्रश्नपत्र होते हैं उनमें से पेपर 1 में मिले हुए गुणों के आधार पर मुख्य परीक्षा में चुना जाता हैं और जो दूसरा पेपर होता हैं उनमेपास होने के लिए 33% गुण अनिवार्य हैं।

2. इंजीनियरी सेवा परीक्षा: इंजीनियरी सेवा परीक्षा संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित होती है। इसके माध्यम से विभिन्न सरकारी संस्थाओं (जैसे: भारतीय रेल, बीएसएनएल आदि) में इंजीनियरों की भर्ती होती है।

3. संयुक्त प्री-मेडिकल टेस्ट या सीपीएमटी: संयुक्त प्री-मेडिकल टेस्ट या सीपीएमटी एक प्रतियोगिता परीक्षा है। इसके परिणाम (मेरिट) के आधार पर भारत के मेडिकल कालेजों में प्रवेश दिया जाता है। जीवविज्ञान विषय के साथ 12वी उतीर्ण करने के बाद इस प्रतियोगिता परीक्षा में बैठा जा सकता है। इसमें जीवविज्ञान, भौतिकी और रसायन शास्त्र विषयों में अब्यर्थ्यों के ज्ञान की परीक्षा होती है।

4. आईआईटी संयुक्त प्रवेश परीक्षा: आईआईटी संयुक्त प्रवेश परीक्षा की परीक्षा भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों में स्नातक स्तर पर प्रवेश के लिये की जाती है। इसमें गणित, भौतिकी एवं रसायन विज्ञान विषयों के प्रश्नपत्र होते हैं।

5. अखिल भारतीय इंजिनीयरिंग प्रवेश परीक्षा: इस प्रतियोगिता प्रवेश परीक्षा का लोकप्रिय नाम ए.आई.ई.ई.ई भी है। इसका आयोजन केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) द्वारा किया जाता है जो मेडिकल कालेजों में प्रवेश के लिये ए आई पी एम टी की परीक्षा भी लेती है।

6. कॉमन ऐडमिशन टेस्ट या सम्मिलित प्रवेश परीक्षा (कैट): सम्मिलित प्रवेश परीक्षा या कॉमन ऐडमिशन टेस्ट (कैट) एक अखिल भारतीय प्रवेश परीक्षा है। यह भारतीय प्रबन्धन संस्थानों द्वारा सम्मिलित रूप से ली जाने वाली परीक्षा है। इसके मेरिट के आधार पर भारत के प्रबन्ध संस्थानों में प्रबन्धन के पोस्ट ग्रैजुएट पाठ्यक्रमों में प्रवेश दिया जाता है।

7. प्रबन्धन योग्यता परीक्षा (मैट): प्रबंधन क्षेत्र में योग्य एवं कुशल कर्मियों की कमी दूर करने के लिये और एक कदम आगे बढ़ाते हुए ‘ऑल इंडिया मैनेजमेंट एसोसिएशन (आइमा)’ बहुप्रतीक्षित प्रबंधन योग्यता और कौशल परीक्षा (मास्ट) शुरु की थी। पहली मास्ट परीक्षा 25 सितंबर 2011 हुई थी।

व्यवसाय एवं संगठन के सन्दर्भ में प्रबन्धन का अर्थ है – उपलब्ध संसाधनों का दक्षतापूर्वक तथा प्रभावपूर्ण तरीके से उपयोग करते हुए लोगों के कार्यों में समन्वय करना ताकि लक्ष्यों की प्राप्ति सुनिश्चित की जा सके। प्रबन्धन के अन्तर्गत आयोजन, संगठन-निर्माण, स्टाफिंग, नेतृत्व करना, तथा संगठन अथवा पहल का नियंत्रण करना आदि आते हैं।

8. ओपेन मैट परीक्षा: देश के प्रमुख बी-स्कूलों में प्रवेश के लिए कैट, मैट, जैट, जेमेट आदि अनेक एंट्रेंस लिए जाते हैं। इन सबसे अलग और खास है-ओपेनमैट, जो इग्नू संचालित मैनेजमेंट कोर्सो में प्रवेश के लिए लिया जाता है। ओपेनमैट परीक्षा में सामान्य श्रेणी के 50 प्रतिशत और आरक्षित श्रेणी के 45 प्रतिशत अंक पाने वाले फ्रेश ग्रेजुएट भी भाग ले सकते है। ओपेनमैट परीक्षा में पहले सुपरवाइजरी और मैनेजरियल कैटेगरी में कम से कम तीन वर्ष का अनुभव होना आवश्यक था पर अब इस शर्त को अब हटा लिया गया है।

9. राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) परीक्षा: एनडीए प्रवेश परीक्षा संघ लोकसेवा आयोग द्वारा प्रतिवर्ष दो बार आयोजित की जाती है। एनडीए में भर्ती होने के लिए आपको 12 वीं कक्षा में उत्तीर्ण होना अनिवार्य है। इस परीक्षा के लिए विज्ञापन रोजगार समाचार, रोजगार और निर्माण तथा देश के प्रमुख समाचार-पत्रों में मार्च-अप्रैल और अक्टूबर-नवंबर में जारी किए जाते हैं।

10. इंजीनियरी में स्नातक अभिरुचि परीक्षा (गेट): इंजीनियरी में स्नातक अभिरुचि परीक्षा (गेट) एक अखिल भारतीय परीक्षा है जिसका आयोजन और संचालन गेट-समिति द्वारा भारत भर में स्थित आठ अंचलों में किया जाता है। समिति में भारतीय विज्ञान संस्थान, बंगलौर तथा सात भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों के संकाय सम्मिलित होते हैं और यह राष्ट्रीय समन्वयबोर्ड-गेट, शिक्षा विभाग, मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार की ओर से इस परीक्षा का आयोजन करती है।

11. सम्मिलित रक्षा सेवा परीक्षा (एसडीएस): सम्मिलित रक्षा सेवा परीक्षा का आयोजन संघ लोक सेवा आयोग द्वारा वर्ष में दो बार किया जाता है। इस परीक्षा के माध्यम से भारतीय सैन्य अकादमी, अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी, भारतीय नौसेना अकादमी, तथा भारतीय वायुसेना अकादमी में अधिकारियों की भर्ती की जाती है।

12. संयुक्त विधि प्रवेश परीक्षा (क्लेट): संयुक्त विधि प्रवेश परीक्षा राष्ट्रीय विधि विद्यालयों तथा विधि विश्वविद्यालयो के विभिन्न स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों (एल.एल.बी एवं एल.एल.एम) में प्रवेश के लिए भारत भर में स्थापित किये गये 15 स्कूल/विश्वविद्यालयों द्वारा बारी–बारी से आयोजित की जाती है।

13. राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (यूजीसी नेट): राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा भारत में एक राष्ट्रीय पात्रता प्रवेश परीक्षा होती हैं। ये स्नातकोत्तर प्रतियोगियों के लिये विश्वविद्यालयों में शिक्षण प्रवेश हेतु अर्हक परीक्षा होती हैं। इसका आयोजन अर्ध-वार्षिक रूप से विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा किया जाता है। ज्ञातव्य है कि वर्ष 2009 के दिशानिर्देश के तहत विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने कालेजों में प्रोफेसर बनने के लिए इस परीक्षा की पात्रता को अनिवार्य बना दिया था।

14. केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी): केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा सीबीएसई द्वारा आयोजित पात्रता परीक्षा है। यह स्कूलों में अध्यापकों के लिये है। स्कूलों में छह से 14 वर्ष के बच्चों को मुफ्त एवं अनिवार्य शिक्षा का अधिकार कानून के तहत शिक्षकों की कमी को पूरा करने और गुणवत्ता सुनिश्चित करने के उद्देश्य से स्कूलों में शिक्षकों की पात्रता परीक्षा का आयोजन की जा रही है।

15. संयुक्त प्रवेश स्क्रीनिंग परीक्षा (जेईई): संयुक्त प्रवेश परीक्षा में रैंक निर्धारित करने के लिए 12वी कक्षा के अंको को अहमियत नहीं दी जाती है। जेईई रैंक के आधार पर आईआईटी/एनआईटी/आईआईटी और इसे अन्य सीएफ़टीआई में प्रवेश के लिए उम्मीदवार की योग्यता 12वी कक्षा में न्यूनतम 75 प्रतिशत अंक है या सम्बंधित बोर्ड की 12वी कक्षा की परीक्षा में 20 सर्वाधिक परसेटाइल में शामिल होना है। एससी/एसटी उम्मीदवारों के लिए यह योग्यता 12वी कक्षा में 65 प्रतिशत अंक है।

इन्हें भी पढ़े: एसएससी परीक्षा की तैयारी के लिए महत्वपूर्ण सामान्य ज्ञान टिप्स

Bharat Men Aayojit Hone Vaalee Pramukh Pratiyogee Pareekshaon Ki Suchi

सामान्य ज्ञान अपनी ईमेल पर पाएं!

Leave a Reply

Your email address will not be published.